मैनपुरी उपचुनाव: चाचा शिवपाल प्रचार के लिए उतरे, डिंपल यादव की जीत के लिए बनाई ये रणनीति

मैनपुरी उपचुनाव: चाचा शिवपाल प्रचार के लिए उतरे, डिंपल यादव की जीत के लिए बनाई ये रणनीति
फोटो: अखिलेश यादव/ ट्विटर

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) से मैनपुरी उपचुनाव (Mainpuri By-Election) को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. ये खबर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के लिए राहत लेकर आई है. बता दें कि चाचा शिवपाल यादव (Shivpal Singh Yadav), समाजवादी पार्टी के लिए समर्थन मांगने के लिए और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की पत्नी डिंपल यादव (Dimple Yadav) को विजय दिलाने के लिए मैदान में आ गए हैं. इसी के साथ ही चाचा शिवपाल सिंह यादव ने अपने कार्यकर्ताओं से चुनाव प्रचार में जुट जाने के निर्देश भी दे दिए हैं.

बता दें कि आज सुबह से ही संभावना जताई जा रही थी कि आज चाचा शिवपाल अपना फैसला ले लेंगे. चाचा शिवपाल यादव के इस फैसले से जहां समाजवादी खेमे में खुशियां होंगी तो वहीं भाजपा (BJP) के खेमे में चिंता अवश्य होगी.

बता दें कि शिवपाल सिंह यादव अपने काफिले के साथ जसवंत नगर विधानसभा क्षेत्र की ताखा तहसील में मौजूद एसएस मेमोरियल महाविद्यालय में आयोजित बैठक में पहुंचे. जैसी की पहले से ही कयास लगाए जा रहे थे, चाचा शिवपाल की इस बैठक में समाजवादी पार्टी और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी, दोनों के कार्यकर्ता मौजूद रहे. इसी से ही साफ हो गया कि चाचा शिवपाल मैनपुरी उपचुनाव में पूरी तरह से अखिलेश यादव और डिंपल यादव के साथ हैं.

बनाई जीत की रणनीति

मिली जानकारी के अनुसार बैठक में चाचा शिवपाल यादव ने अपनी पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ डिंपल याजव की जीत की रणनीति बनाई. इसी के साथ चाचा शिवपाल ने अपनी पार्टी के सेक्टर बूथ प्रभारियों को समाजवादी पार्टी के पक्ष में ज्यादा से ज्यादा मतदान करवाने का निर्देश भी दिया.

अहम बिंदु

आपको बता दें कि इस दौरान चाचा शिवपाल यादव के साथ समाजवादी पार्टी के दिबियापुर विधानसभा से विधायक प्रदीप यादव भी साथ रहे. तस्वीर साफ हो गई है कि मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में अब चाचा शिवपाल यादव पूरी तरह से अखिलेश यादव के साथ हैं.

अखिलेश और शिवपाल में हुई थी मुलाकात

आपको बता दें कि हाल ही में अखिलेश यादव अपनी पत्नी डिंपल यादव के साथ चाचा शिवपाल से मिलने पहुंचे थे. ये मुलाकात काफी अहम मानी जा रही थी. इस मुलाकात के बाद चाचा शिवपाल और अखिलेश ने ट्वीटर पर फोटो पोस्ट की थी. इससे भी काफी हद तक साफ हो गया था कि मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में सपा को चाचा शिवपाल का साथ मिलेगा.

आपको यह भी बता दें कि भाजपा ने मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में रघुराज सिंह शाक्य को मैदान में उतारा है. खास बात यह है कि रघुराज सिंह शाक्य नेताजी मुलायम सिंह यादव को अपना आदर्श मानते हैं तो वहीं शिवपाल सिंह यादव को अपना राजनीति गुरु मानते हैं.

अब देखना यह होगा कि मैनपुरी की जनता उपचुनावों में सपा का चुनाव करती है या भाजपा ये सीट जीतकर नया सियासी इतिहास रचती है.

मैनपुरी उपचुनाव: चाचा शिवपाल प्रचार के लिए उतरे, डिंपल यादव की जीत के लिए बनाई ये रणनीति
बहू डिंपल और भतीजे अखिलेश से मिलकर शिवपाल ने किया ट्वीट- इस बाग को सींचेंगे खून-पसीने से

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in