देवरिया: सरयू में मिली 9 फीट की विशालकाय मछली, साइज देखकर हर कोई रह गया हैरान

देवरिया: सरयू में मिली 9 फीट की विशालकाय मछली, साइज देखकर हर कोई रह गया हैरान
फोटो -

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में सरयू नदी में शुक्रवार को एक विशालकाय मछली मिलने से लोगों में काफी कौतूहल देखा गया. देवरिया के पिंडी गांव में नदी में मछुआरे के जाल में विशालकाय फंसी जिसे बाद में नाव पर लादकर किनारे तक लाया गया. जहां मछली को देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी. बता दें कि देवरिया जिले में शुक्रवार को एक विशालकाय मछली का वीडियो सोशल मिडिया पर बहुत तेज़ी से वायरल हो हुआ.

अहम बिंदु

यूपी तक की टीम ने इस वायरल विडियो की पड़ताल की तो पता चला कि देवरिया के पिंडी गांव का है .वहां रहने वाले मछुवारे सरयू नदी में शुक्रवार की भोर में मछली पकड़ने के लिए जाल लेकर पंहुचे थे और जब उन्होंने जाल डाला तो लगभग 9 फ़ीट की मछली फंस गई.

जाल में फंसी इस मछली का वजन में काफी ज्यादा था. जब वह मछली को लेकर गांव पंहुचे तो इसे देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गयी. लोगों के लिए एक कौतूहल का विषय बन गया था. सभी इसे मोबाइल में कैद करने के लिए आतुर दिखें. यही नही एक लड़का तो मछली का जबड़ा फैलाते हुए तस्वीर खींचा कर खुश हो रहा था. जब हमने मत्स्य विभाग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नन्द किशोर से इस मछली के बारे में जानकारी की तो उनके द्वारा बताया गया कि यह गोच प्रजाति की मछली है. जो काफी महंगी बिकती है और इसे बगेरियस भी कहते है.

पिंडी गांव के रहने वाले बृजेश धर दुबे ने बताया कि उनके गांव के तीन लड़के मछली पकड़ने गए थे, जहां पर यह मछली मिली है. इसका वजन लगभग 80 किलो है और लंबाई लगभग नौ फ़ीट है. इसे मऊ जिले का एक व्यापारी खरीद कर ले गया.

गौरतलब है कि थाना लार क्षेत्र का पिंडी गांव सरयु नदी के किनारे स्थित है और यहां के मछुवारे अक्सर नदी में मछली पकड़ने के लिए जाते है. शुक्रवार की भोर में पिंडी गांव के रहने वाले सरवन साहनी,मोहन साहनी और बृजराज साहनी मछली पकड़ने के लिए नाव लेकर नदी गए हुए थे. नदी में जाल बिछाकर इंतज़ार कर ही रहे थे कि एक विशालकाय मछली उसमें आकर फंस गई जो लगभग आठ-नौ फ़ीट की थी. उसे नाव में लादकर मछुवारे जब गांव लौटे तो उस बड़ी मछली को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गयी.

हर कोई इस मछली को अपने मोबाईल में कैद कर लेना चाहता था. बताया जा रहा है कि इसे मऊ जिले के व्यापारी ने तीस हज़ार में खरीद लिया. जब हमने मुख्य कार्यकारी मत्स्य अधिकारी नन्द किशोर से इस मछली के बारे में जानकारी की तो उन्होंने बताया कि यह मछली गोच प्रजाति की है. इसे बगेरियस भी कहते है. यह नदी में ही पायी जाती है और बहुत ही महंगी बिकती है.

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in