भदोही: गैंगरेप पीड़िता को मिली मुकदमा वापस लेने की धमकी, ब्लॉक प्रमुख के परिजन पर केस दर्ज

भदोही: गैंगरेप पीड़िता को मिली मुकदमा वापस लेने की धमकी, ब्लॉक प्रमुख के परिजन पर केस दर्ज
फोटो: महेश जायसवाल

Bhadohi News: भदोही जिले में एक दलित दुष्कर्म पीड़िता को कथित तौर पर मुकदमा वापस लेने की धमकी देने के मामले में ब्लॉक प्रमुख मनीष मिश्रा के परिजनों सहित चार पर एफआईआर दर्ज हुई है. बता दें कि दुष्कर्म सहित कई मामलों में जेल में बंद ज्ञानपुर ब्लॉक प्रमुख मनीष मिश्रा बाहुबली पूर्व विधायक विजय मिश्रा का भतीजा है. गौरतलब है कि पीड़िता ने मनीष मिश्रा सहित अन्य पर गैंगरेप का मामल दर्ज कराया था.

क्या है मामला?

आपको बता दें कि प्रयागराज की एक दलित महिला ने ब्लॉक प्रमुख मनीष मिश्रा सहित अन्य पर लालच देकर गैंगरेप का मामला दर्ज कराया था. आरोप है की इसी मुकदमे के सिलसिले में वह घर से मुख्यालय के लिए निकली थी, तभी रास्ते में मनीष के बेटे और रिश्तेदार ने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए मुकदमा वापस लेने दी और कहा कि 'मामला वापस नहीं लिया तो जान से हाथ धोना पड़ेगा.'

आरोप यह भी है कि मनीष की पत्नी और अन्य लोग पीड़िता के घर पर जाकर रुपयों के एवज में मामला वापस लेने का दबाव बना रहे हैं. पीड़िता ने मामले की शिकायत गोपीगंज थाने में की, जिसके बाद पुलिस ने ब्लॉक प्रमुख की पत्नी, बेटे सहित चार लोगों के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

पुलिस ने कही ये बात

भदोही के एसपी डा. अनिल कुमार ने बताया कि 'प्रयागराज की एक पीड़िता ने मनीष मिश्रा पर गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया था. उस मुकदमे में चार्जशीट माननीय न्यायालय में प्रेषित कर दी गई है. इसी मुकदमे में पीड़िता का आरोप है कि पुनः दबाव बनाने और प्रलोभन देकर समझौता करने, मुकदमे की पैरवी ना करने को लेकर कुछ लोगों द्वारा संपर्क करने का प्रयास किया गया था. पीड़िता द्वारा कुछ साक्ष्य उपलब्ध कराया गया है. पीड़िता की शिकायत और साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों के खिलाफ गोपीगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है. इसमें कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी. इस मुकदमे में उसमें मनीष मिश्रा की पत्नी, पुत्र, साला और एक अन्य को नामजद किया गया है.'

भदोही: गैंगरेप पीड़िता को मिली मुकदमा वापस लेने की धमकी, ब्लॉक प्रमुख के परिजन पर केस दर्ज
भदोही: बाहुबली विजय मिश्र की 10 करोड़ की संपत्ति जब्त, करीबियों पर भी कसा शिकंजा

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in