प्रयागराज: माफिया अतीक अहमद के बाद उसके भाई अशरफ पर शिकंजा, 7 करोड़ की संपत्ति कुर्क

प्रयागराज: माफिया अतीक अहमद के बाद उसके भाई अशरफ पर शिकंजा, 7 करोड़ की संपत्ति कुर्क
फोटो - पकंज श्रीवास्तव

यूपी की योगी सरकार का अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ एक्शन लगातार जारी है. इसी कड़ी में प्रयागराज पुलिस ने पूर्व सांसद और बाहुबली अतीक अहमद के खिलाफ एक और बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. प्रयागराज की धूमनगंज थाना पुलिस ने अतीक अहमद के परिवार की अपराध से अर्जित एक और अवैध संपत्ति को कुर्क करने की कार्रवाई की है. यह संपत्ति बाहुबली अतीक अहमद के भाई पूर्व सपा विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ के नाम पर थी.

अहम बिंदु

माफिया अतीक अहमद के भाई अशरफ की कुर्क की गई जमीन की अनुमानित कीमत 7 करोड़ रुपए है. मुनादी कराने के बाद पुलिस ने संपत्ति को सीज कर दिया और वहां प्रशासन का बोर्ड लगा दिया.

प्रयागराज के देवघाट झलवा में अशरफ और उसके गुर्गों ने 14 बिस्वा जमीन पर अवैध रूप से प्लाटिंग की थी. धूमनगंज थाने की पुलिस के साथ पहुंचे अधिकारियों ने संपत्ति को कुर्क कर दिया. बता दें कि अशरफ इन दिनों बरेली जेल में बंद है. उसके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में दर्ज मुकदमे में विवेचना के दौरान उसकी अवैध संपत्ति का पता चला था. पुलिस ने धूमनगंज थाना क्षेत्र के देवघाट झलवा में 14 बिस्वा जमीन गैंगस्टर एक्ट 14(1) के तहत डुगडुगी बजाकर मुनादी कराकर कुर्क की गई है.

कुर्क की गई जमीन की अनुमानित कीमत 7 करोड़ रुपए है. धूमनगंज थाना पुलिस ने डीएम से अनुमति मिलने के बाद कुर्की की कार्रवाई की है.

राजस्व रिपोर्ट मिलने के बाद पुलिस ने डीएम से कुर्की की इजाजत मांगी थी डीएम ने 15 नवंबर को ही अशरफ की संपत्ति कुर्क करने की इजाजत दे दी थी. जिसके बाद आज दल बल के साथ मौके पर पहुंचे एसपी सिटी संतोष कुमार मीणा और मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में कुर्की की कार्रवाई को अंजाम दिया गया. एसपी सिटी संतोष कुमार मीणा के मुताबिक अपराधियों और बाहुबलियों की अपराध से अर्जित संपत्तियों को लगातार चिन्हित किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि आगे भी गैंगस्टर एक्ट के तहत माफियाओं और अपराधियों के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई जारी रहेगी.

प्रयागराज: माफिया अतीक अहमद के बाद उसके भाई अशरफ पर शिकंजा, 7 करोड़ की संपत्ति कुर्क
मैनपुरी उपचुनाव: पत्नी डिंपल के लिए चुनावी मैदान में उतरे अखिलेश, कहा- अब तो चाचा भी साथ

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in