स्मृति ईरानी को याद आयी राहुल गांधी के खिलाफ 2019 वाली जीत, बताया अमेठी से क्या सीखा?

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी.
कांग्रेस नेता राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी.फोटो: चंद्रदीप कुमार/ इंडिया टुडे

Uttar Pradesh News: 2024 के लोकसभा चुनाव होने में अभी वक्त है पर सभी राजनीतिक पार्टियां अभी से उसकी तैयारियों में जुट गयी हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में विराट जीत हासिल करने वाली भारतीय जनता पार्टी इस बार भी वही प्रदर्शन दोहराने के लिए बेताब नजर आ रही है.

अहम बिंदु

2019 के लोकसभा चुनाव में कई दिग्गजों को हार का मुंह देखना पड़ा था. उन दिग्गजों में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी थे. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को उनके गढ़ अमेठी से मात दी थी. अपनी उस जीत की याद भाजपा नेता को फिर से आयी है.

बता दें कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने एक कार्यक्रम में 2019 के लोकसभा चुनाव में मिली उस जीत का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि जो कोशिश करते रहते हैं और कभी हार नहीं मानते, उन्हें एक दिन जीत मिलती है, यही मैंने अमेठी से सीखा है. बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में भी स्मृति ईरानी ने कांग्रेस के पुराने गढ़ अमेठी से ताल ठोंका था, पर उस चुनाव में केंद्रीय मंत्री को हार का सामना करना पड़ा था.

वहीं 2014 का चुनाव हारने के बावजूद केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की अमेठी में सक्रियता आखिर 2019 में रंग लाई. उन्होंने अमेठी में कांग्रेस का विजय रथ रोक दिया.

बता दें कि 1980 के लोकसभा चुनाव में संजय गांधी की जीत के बाद कांग्रेस लगातार अपने जीत का परचम फहराते आयी थी. कांग्रेस को बस एक बार 1998 में ही हार का सामना करना पड़ा था. वहीं 1998 के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस अपने गढ़ में हार का स्वाद चखीं. इस जीत के बाद स्मृति ईरानी ने एक ट्वीट किया था जो काफी वायरल हुआ था. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि 'कौन कहता है कि आसमान में सुराख नहीं हो सकता'.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी.
UP विधानसभा मॉनसून सत्र: CM योगी बोले- 'बीते 5 सालों में महिला संबंधी अपराधों में कमी आई'

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in