सीएम योगी से न्याय की गुहार के बाद रवि किशन ने भुगतान किया मजदूरों का बकाया, जानें मामला

गोरखपुर से बीजेपी सांसद रवि किशन.
गोरखपुर से बीजेपी सांसद रवि किशन.फोटो: रवि किशन, फेसबुक

सरकार जहां एक तरफ मजदूरों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए नई-नई योजनाएं चला रही हैं और रोजगार के अवसर प्रदान कर रही है तो वहीं ठीक इसके विपरीत यूपी में सत्ताधारी दल के सांसद और भोजपुरी अभिनेता रवि किशन (BJP MP Ravi Kishan) पर मजदूरों ने मजदूरी ना देने का आरोप लगाया है. जिसके चलते मजदूरी ना मिलने के कारण मजदूरों ने उत्तर प्रदेश सरकार के जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत की. साथ ही बुधवार को सुबह 7 बजे गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर पर जाकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से जनता दरबार के दौरान शिकायत कर प्रार्थना पत्र सौंपा.

प्रार्थना पत्र में मजदूरों ने कहा कि हम सभी मजदूरों का परिवार मजदूरी से चलता है. हम लोग मजदूरी करके अपना जीविकोपार्जन चलाते हैं और बेरोजगार हैं. ऐसे में गोरखपुर के सांसद रवि किशन शुक्ला के रामगढ़ ताल स्थित बने घर में गृह प्रवेश का कार्यक्रम था, जिसमें मजदूरों को कार्यक्रम की व्यवस्था की जिम्मेदारी सौंपी गई थी और गृह प्रवेश में व्यवस्थाओं को पूरा करने के बावजूद भी उन्हें पैसे नहीं दिए गए. जनता दरबार में मजदूरों द्वारा सीएम से शिकायत करने के बाद मामला मीडिया में आया और फिर मामले ने तूल पकड़ लिया.

वहीं इस मामले में मजदूर विशाल साहनी ने बताया कि पिछले महीने की 11 तारीख को गोरखपुर के सांसद रवि किशन शुक्ला के रामगढ़ ताल निकट नौकायान में गृह प्रवेश का कार्यक्रम था. इस दौरान सांसद रवि किशन के सहयोगी समरेंद्र सिंह, जय यदुवंशी, पवन दुबे और अभिषेक जायसवाल ने हम लोगों को बुलाकर गृह प्रवेश के कार्यक्रम की जिम्मेदारी 2 लाख, 48 हजार रुपये में दी, जिसमें हम लोगों ने वेटर, माली, लाइट साउंड, टेंट, डिस्पोजल ग्लास, पत्तल-दोना, बोतल का पानी, चम्मच, बर्फ रंगीन लाइट, फव्वारा, पंखा की व्यवस्था हम लोगों द्वारा की गई.

मजदूरों द्वारा लिखा गया शिकायती पत्र.
मजदूरों द्वारा लिखा गया शिकायती पत्र. फोटो: सत्यम मिश्रा, यूपी तक

मजदूर विशाल साहनी ने आगे बताया कि सारी व्यवस्था करने के बाद हमें सिर्फ 40 हजार रुपया दिया गया, बाकी रुपये नहीं दिए गए और हम लोग जब अपने बचे हुए पैसे मांगने की बात कही तो सांसद के सहयोगियों के द्वारा लगातार धमकाया गया और कहा गया कि अगर ज्यादा हल्ला-गुल्ला किए तो मारपीट कर जेल में बंद करवा देंगे.

मजदूर ने यह भी बताया कि हम गरीबों की खिल्ली उड़ाई जाती हैं और खुलेआम धमकी दी जाती हैं. ऐसे में हम लोग बहुत परेशान हो चुके थे. जिसके चलते हम लोगों ने उत्तर प्रदेश सरकार के जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज की और फिर बीते कल गुरु पूर्णिमा के दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जाकर न्याय की गुहार लगाई.

हालांकि मजदूर विशाल ने यह भी बताया कि जनता दरबार में शिकायत करने के बाद बीते कल रात 8 बजे सांसद रवि किशन का खुद फोन आया और उन्होंने कहा कि अपने बचे हुए पैसे आकर ले जाएं. रवि किशन ने मजदूरों से बताया कि उन्हें इस बारे कोई जानकारी नहीं थी. जिसके बाद हम लोगों को बचे हुए रुपए अब मिल गए हैं.

गोरखपुर से बीजेपी सांसद रवि किशन.
मनोज तिवारी, रवि किशन, निरहुआ के बाद अब पवन सिंह बनेंगे सांसद? देखिए ये वीडियो रिपोर्ट

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in