window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

मायावती बोलीं- बसपा INDIA के साथ नहीं, लालू यादव ने दिया जवाब- उनको बुलाए ही कहां हैं?

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UpTak
UpTak
social share
google news

Mayawati News: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया और यूपी की पूर्व सीएम मायावती ने बुधवार को लोकसभा चुनाव अपने बलबूते लड़ने का बड़ा ऐलान किया. दरअसल, मायावती ने कहा कि आगामी चुनाव में न तो वह एनडीए और न ही ‘INDIA‘ गठबंधन के साथ जाएंगी. मायावती के इस ऐलान के बाद राजनीति तेज हो गई. वहीं, अब राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने मायावती के इस ऐलान के बाद उनपर तंज कसा है.

दरअसल मुंबई में होने वाली ‘INDIA’ गठबंधन की बैठक से पहले जब लालू से पूछा गया कि ‘मायावती को साथ लाने की कोशिश हो रही थी, मगर उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वह साथ नहीं रहेंगी’ तो इसके जवाब में उन्होंने कहा, “कहां उनको बुलाया है?”

लालू के इस बयान के बाद सियासी गलियारों में ऐसी चर्चा है कि अब शायद INDIA गठबंधन से जुड़ी पार्टियां मायावती की पार्टी बसपा को अपने साथ लाने की कोशिशों पर फिलहाल के लिए रोक लगा देंगी.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

क्या कहा था मायावती ने?

मायावती ने सोशल नेटवर्किंग मंच ‘एक्स’ (पूर्व में ट्विटर) पर किए गए सिलसिलेवार पोस्ट में कहा, “एनडीए (भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) और इण्डिया (विपक्षी दलों का गठबंधन इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव एलायंस) गठबंधन अधिकतर गरीब-विरोधी जातिवादी, साम्प्रदायिक, धन्नासेठ-समर्थक व पूंजीवादी नीतियों वाली पार्टियाँ हैं जिनकी नीतियों के विरुद्ध बसपा अनवरत संघर्षरत है और इसीलिए इनसे गठबंधन करके चुनाव लड़ने का सवाल ही पैदा नहीं होता. अतः मीडिया से अपील-नो फेक न्यूज प्लीज़.”

ADVERTISEMENT

उन्होंने एक अन्य पोस्ट में कहा, “बसपा, विरोधियों के जुगाड/जोड़तोड़ से ज्यादा समाज के टूटे/बिखरे हुए करोड़ों उपेक्षितों को आपसी भाईचारा के आधार पर जोड़कर उनके गठबंधन से सन् 2007 की तरह अकेले आगामी लोकसभा चुनाव तथा चार राज्यों में विधानसभा चुनाव लडे़गी.”

मायावती ने आगे कहा, “वैसे तो बसपा से गठबंधन के लिए यहाँ सभी आतुर हैं लेकिन ऐसा न करने पर विपक्षी दलों द्वारा खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे की तरह भाजपा से मिलीभगत के आरोप लगाये जाते हैं. इनसे मिल जाएं तो सेक्युलर, न मिलें तो भाजपाई. यह घोर अनुचित है और अंगूर मिल जाए तो ठीक वरना अंगूर खट्टे हैं, की कहावत जैसा है.”

ADVERTISEMENT

मायावती ने इमरान मसूद पर साधा निशाना

उन्होंने इसी सिलसिले में किए गए एक और पोस्ट में मंगलवार को बसपा से निष्कासित किए गए पूर्व विधायक इमरान मसूद की तरफ इशारा करते हुए कहा, ‘बसपा से निकाले जाने पर सहारनपुर के पूर्व विधायक कांग्रेस व उस पार्टी के शीर्ष नेताओं की प्रशंसा में व्यस्त हैं, जिससे लोगों में यह सवाल स्वाभाविक है कि उन्होंने पहले यह पार्टी छोड़ी क्यों और फिर दूसरी पार्टी में गए ही क्यों? ऐसे लोगों पर जनता कैसे भरोसा करे?’

गौरतलब है कि भाजपा नीत राजग को आगामी लोकसभा चुनाव में पराजित करने के लिए कांग्रेस समेत विभिन्न विपक्षी दलों ने ‘इंडिया’ नाम से गठबंधन बनाया है. मायावती ने शुरू से ही इसमें शामिल होने से इनकार कर दिया था.

 

 

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT