AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी का शुक्रिया कहने लगे BJP सांसद वरुण गांधी, जानें क्या है माजरा
बीजेपी सांसद वरुण गांधी और AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी.फोटो कोला: यूपी तक

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी का शुक्रिया कहने लगे BJP सांसद वरुण गांधी, जानें क्या है माजरा

यह बात अब जगजाहिर है कि पीलीभीत से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद वरुण गांधी पिछले काफी समय से अपनी पार्टी लाइन के विपरीत जमकर बयानबाजी कर रहे हैं. अब वरुण ने इस सिलसिले को जारी रखते हुए बीजेपी की प्रतिद्वंदी पार्टी AIMIM के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी का आभार जताया है. दरअसल, अपनी एक जनसभा में ओवैसी ने वरुण द्वारा पेश किए गए सरकारी नौकरियों के आंकड़ों का हवाला देकर अपनी बात कही थी. इसलिए अब वरुण ने ओवैसी को धन्यवाद कहा है.

पीलीभीत सांसद ने सोमवार को ट्वीट कर कहा,

"बेरोजगारी आज देश का सबसे ज्वलंत मुद्दा है और पूरे देश के नेताओं को इस मुद्दे पर सरकार का ध्यान आकृष्ट कराना चाहिए. बेरोजगार नौजवानों को न्याय मिलना चाहिए, तभी देश शक्तिशाली बनेगा. मैं आभारी हूं की रोजगार के ऊपर उठाए गए मेरे सवालों का ओवैसी जी ने अपने भाषण में जिक्र किया."

वरुण गांधी

वरुण गांधी
आपको बता दें कि अपने ट्वीट में वरुण ने ओवैसी का एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें वह कह रहे हैं, "कुल 60 लाख 82 हजार 130 (पदों पर) नौकरियां खाली हैं...ये 60 लाख का फिगर कहां से आया? ये फिगर मैंने नहीं लिखा, ये भाजपा के एमपी (पीलीभीत से) श्री वरुण गांधी ने लिखा है."

आपको बता दें कि इससे पहले वरुण गांधी ने बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए कहा था कि विभिन्न क्षेत्रों में केंद्र और राज्य सरकार के 60 लाख से अधिक स्वीकृत पद रिक्त हैं, तथा बेरोजगारी तीन दशकों में अपने सर्वोच्च स्तर पर है.

वरुण ने अपने ट्वीट में लिखा था, "जब बेरोजगारी तीन दशकों के सर्वोच्च स्तर पर है तब ये आंकड़े चौंकाने वाले हैं. जहां भर्तियां नहीं होने से करोड़ों युवा हताश और निराश हैं, वहीं ‘सरकारी आंकड़ों’ की ही मानें तो देश में 60 लाख ‘स्वीकृत पद’ खाली हैं."

गौरतलब है कि वरुण अब निरस्त किए जा चुके तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन के समर्थन में खुलकर सामने आए थे, जबकि केंद्र में उनकी पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार कानूनों का बचाव कर रही थी.

बीजेपी सांसद वरुण गांधी और AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी.
प्रयागराज हिंसा: AIMIM और SP के इन नेताओं के खिलाफ केस दर्ज, 95 दंगाई किए गए नामजद

Related Stories

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in