Breaking: योगी सरकार ने स्पष्ट किया- राशन कार्ड सरेंडर संबंधी कोई आदेश जारी नहीं हुआ है

Breaking: योगी सरकार ने स्पष्ट किया- राशन कार्ड सरेंडर संबंधी कोई आदेश जारी नहीं हुआ है
मुनादी कर राशन कार्ड सरेंडर करने की बात कही गई थी. फोटो कोलाज: यूपी तक

उत्तर प्रदेश में कहीं मुनादी कराकर तो कोई सूचना देकर राशन कार्ड सरेंडर करने की बात सामने आ रही है. इधर यूपी सरकार ने स्पष्ट किया है कि ऐसा कोई आदेश जारी नहीं हुआ है.

अहम बिंदु

यूपी सरकार ने कहा कि प्रदेश में राशन कार्ड सरेंडर करने या उनके निरस्तीकरण के सम्बन्ध में कोई नया आदेश जारी नहीं किया गया है. खाद्य आयुक्त ने इस संबंध में प्रसारित खबरों को आधारहीन तथा भ्रामक बताया है. राशन कार्ड सत्यापन एक सामान्य प्रक्रिया है. ये नियम 8 साल पहले से लागू हैं. उनमें कोई बदलाव नहीं किया गया है. सभी पात्रों को राशन मिलता रहेगा.

ध्यान देने वाली बात है कि प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में प्रशासन ने कार्ड वापस लेने की कार्रवाही शुरू कर दी है. इसके पीछे प्रशासन ने कारण बताया था कि अपात्र लोगों को फ्री राशन की स्कीम का लाभ नहीं मिलनी चाहिए. अपात्र लोगों के फ्री राशन लेने के कारण पात्र लोगों को राशन नहीं मिल पा रहा है.

जागरूकता के तहत कहीं-कहीं मुनादी कराकर लोगों को अपने कार्ड सरेंडर करने की बात कही जा रही थी. यहां तक सभी कोटेदारों द्वारा राशन लेने आने वाले कार्ड धारकों को भी यह सूचना दी जा रही है जिसके बाद सभी कार्ड धारक जो पात्र नहीं है अपना कार्ड सरेंडर करने के लिए आने लगे थे.

मुनादी कर राशन कार्ड सरेंडर करने की बात कही गई थी.
UP में राशन कार्ड सरेंडर करने को लेकर मचा बवाल, विपक्ष ने योगी सरकार को यूं घेरा

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in