Pitbull Attack : पिटबुल डॉग मामले में मृतका के बेटे ने बताया- मां के साथ खेलता था वो

UP News Hindi | Pitbull Attack News
Pitbull Attack : पिटबुल डॉग मामले में मृतका के बेटे ने बताया- मां के साथ खेलता था वो
फोटो: यूपी तक

UP News : लखनऊ में महिला पर पिटबुल डॉग के हमले के बाद उसकी मौत से सभी सकते में हैं. इधर नगर-निगम ने डॉग को अपने कब्जे में ले लिया है. हादसे के बाद मृतका के बेटे ने डॉग से जुड़े कई राज खोले हैं. मृतका के बेटे ने बताया कि डॉग मां के साथ खेलता था. ये सब कैसे हो गया पता नहीं.

अहम बिंदु

यूपी तक से बातचीत के दौरान मृतका के बेटे अमित ने बताया- कुत्ता अग्रेसिव नहीं था. वो मां के साथ हमेशा खेलता रहता था. कभी-कभी दरवाजे की घंटी बार-बार बजाने से चिढ़ता था. शायद यही वजह हो. मेरे पास कुत्ते का लाइसेंस और वैक्सीनेशन पूरा है. कभी कोई कमी नहीं की. खाने का फूड का पूरा इंतजाम रहता था, लेकिन अचानक कैसे हो गया नहीं पता.

कभी देखना नहीं चाहूंगा इस डॉगी को

अमित त्रिपाठी ने कहा- बड़ा हादसा था. यह मैं भी नहीं समझ पा रहा हूं. 3 साल से मेरे साथ दो कुत्ते हैं. एक पिटबुल एक लेब्रा. मां के साथ भी खेलते थे दोनों. जिस दिन घटना हुई उस दिन क्या अचानक हुआ नहीं पता. जब मैं आया तो खून से लथपथ मां थी. मेरा कुत्ता कभी नहीं कटता था. मैने खुद नगर निगम को अपना कुत्ता दिया है. अब मैं उस कुत्ते को नहीं देखना चाहता हूं. मैने अपनी मां को खोया है. उससे बड़ा और कोई नहीं है.

पड़ोसियों ने कहा- बुजुर्ग को नोंच-नोंचकर खा गया

लखनऊ में पिटबुल ने एक बुजुर्ग महिला को नोच नोचकर मार डाला. पड़ोस में रहने वाले शख्स ने बताया की शरीर के हर हिस्से का मांस खा गया. यही नहीं एक घंटे तक वह बुजुर्ग महिला को नोचता रहा. हालंकि महिला की आवाज सुनकर आस-पड़ोस रहने वाले लोगों ने पत्थर मारने की कोशिश की. बावजूद पिटबुल नहीं रुका. यही नहीं वह शरीर को खींचकर अंदर ले गया और तकरीबन एक घंटे तक बुजुर्ग महिला को नोचता रहा.

आदमखोर हो चुके पिटबुल को अब नगर निगम के पिंजरे में रखा जाएगा. बताया जा रहा है कि 4 लोगों का पैनल कुत्ते के बिहैवियर की जांच करेगा. कुत्ते के मालिक अमित त्रिपाठी का लाइसेंस भी रद्द किया जाएगा.
Pitbull Attack : पिटबुल डॉग मामले में मृतका के बेटे ने बताया- मां के साथ खेलता था वो
बेटे ने जिस पिटबुल डॉग को पाला था, उसने ही मां को फाड़कर मार डाला, देखिए वीडियो रिपोर्ट

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in