कानपुर में जुमे की नमाज को लेकर प्रशासन सख्त, गलियों में पुलिस, छतों की ड्रोन से निगरानी

कानपुर में जुमे की नमाज को लेकर प्रशासन सख्त, गलियों में पुलिस, छतों की ड्रोन से निगरानी
फोटो: यूपी तक

कानपुर समेत प्रदेश के कई शहरों में जुमे की नजाम को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. कानपुर शहर में जुमे की नमाज के मद्देनजर संवेदनशील इलाकों में सड़कों और गलियों में पुलिस मुस्तैद है. वहीं आसमान में निगरानी के लिए ड्रोन उड़ाया जा रहा है. इलाके के छातों का जायजा लेने के लिए ड्रोन के जरिए निगरानी रखी जा रही है.

अहम बिंदु

वहीं जुमे की नमाज को लेकर एसएसपी प्रयागराज अजय कुमार ने जनता से सोशल मीडिया पर भड़काऊ व आपत्तिजनक पोस्ट ना करने की अपील की है. ऐसा करने वालों को चेतावनी भी दी है. प्रयागराज में हर छोटी-बड़ी सोशल मीडिया पोस्ट को 72 लोगों की टीम द्वारा ऑन रिकॉर्ड लिया जा रहा है, ताकि समय आने पर उसे सबूत की तरह इस्तेमाल किया जा सके.

कानपुर में 17 कंपनी पीएसी, 3 कंपनी केंद्रीय सुरक्षा बल व आसपास के जिलों की पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है. कानपुर पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा तमाम अन्य अधिकारियों के साथ मार्च कर रहे हैं. मामले में अब तक 55 बलवाई गिरफ्तार किए जा चुके हैं.

कानपुर में बीते शुक्रवार को हुई हिंसा के बाद धारा 144 लागू कर दी गई है. शुक्रवार को अनावश्यक भीड़ जमा ना हो उसके लिए कानपुर पुलिस ने एक विशेष इंतजाम किया है. ई-रिक्शा पर लाउडस्पीकर लगाकर लोगों को आगाह किया जा रहा है कि अनावश्यक भीड़ लगाने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. कानपुर के सभी संवेदनशील इलाकों पर ई-रिक्शा पर लगे लाउडस्पीकर के जरिए लोगों को आगाह किया जा रहा और गलियों चौराहों पर पुलिस फोर्स सुरक्षा के लिहाज से तैनात कर दी गई है.

अहम बिंदु

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि प्रांतीय सशस्त्र कांस्टेबुलरी (पीएसी), रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) और त्वरित प्रतिक्रिया टीमों सहित पर्याप्त संख्या में पुलिस बल मुस्लिम बहुल इलाकों में तैनात किया गया है, खासकर जहां मिश्रित आबादी रहती है. पुलिस आयुक्त, विजय सिंह मीणा ने शुक्रवार के लिए की गई व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि उच्च भवनों की छतों पर पुलिस कर्मियों की तैनाती करने का निर्णय लिया गया है और सभी अधीनस्थों और थाना प्रमुखों को चौबीसों घंटे गश्त सुनिश्चित करने और कानून-व्यवस्था और शांति बनाए रखने के लिए आवश्यक एहतियाती कदम उठाने को कहा गया है.

मीणा ने लोगों से सोशल मीडिया पर अफवाहों पर प्रतिक्रिया देकर कानून को अपने हाथ में नहीं लेने का भी आग्रह किया. उन्होंने कहा कि इसके अलावा, अफवाह फैलाने वालों के साथ-साथ कानून-व्यवस्था को बिगाड़ने की कोशिश करने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी. मीणा ने बताया कि पुलिस ड्रोन कैमरों से कड़ी नजर रखी हुई है, इसलिए कानून तोड़ने वालों को यह नहीं सोचना चाहिए कि वे कानूनी कार्रवाई से बच सकते हैं.

इनपुट: भाषा

कानपुर में जुमे की नमाज को लेकर प्रशासन सख्त, गलियों में पुलिस, छतों की ड्रोन से निगरानी
कानपुर: मुस्लिम बुजुर्ग से बदसलूकी के आरोपी की पुरानी तस्वीरें वायरल, बड़े नेताओं संग दिखा

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in