अलख पांडेय की 'फिजिक्सवाला' यूनिकॉर्न समूह में शामिल, पढ़ाई के लिए पिता ने बेच दिया था घर

अलख पांडेय की 'फिजिक्सवाला' यूनिकॉर्न समूह में शामिल, पढ़ाई के लिए पिता ने बेच दिया था घर
अलख पांडेय की एडटेक कंपनी 'फिजिक्सवाला' की नेट वर्थ 1.1 बिलियन डॉलर पहुंच गई है. फोटो: पंकज श्रीवास्तव, यूपी तक

प्रयागराज के रहने वाले अलख पांडेय की एडटेक कंपनी 'फिजिक्सवाला' अब देश की यूनिकॉर्न कंपनियों के ग्रुप में शामिल हो गई है. शिक्षा के क्षेत्र में धूम मचा रहा ये 'फिजिक्सवाला' अब देश की 101वीं यूनिकॉर्न कंपनी बन गई है. फिजिक्सवाला कंपनी की नेट वर्थ 1.1 बिलियन डॉलर पहुंच गई है. आइए हम आपको अलख पांडेय के बारे में बताते हैं.

अलख पांडेय शुरू से ही पढ़ने में तेज थे और घर की स्थित ठीक न होने के कारण उन्हें कई परेशानियों से भी जूझना पड़ा. उन्होंने 12वीं के बाद एक कोचिंग में 3 हजार रुपये महीने पर पढ़ाना शुरू किया था.

एक समय ऐसा आया अलख के पिता सतीश पांडेय को अपने बेटे अलख और बेटी अदिति को पढ़ाने के लिए अपना घर तक बेचना पड़ गया था. अलख की शुरुआती शिक्षा प्रयागराज के विशप जॉनसन स्कूल से हुई, जिसमे उन्हें हाईस्कूल में 91 फीसदी और 12वीं में 93.5 प्रतिशत अंक मिले थे.

दरअसल, शिक्षक अलख पांडेय ने अपने साथी प्रतीक के साथ 2017 में एक यूट्यूब चैनल खोला और उसे 2020 मे 'फिजिक्सवाला' नाम के तौर पर कंपनी एक्ट में शामिल किया. प्रतीक माहेश्वरी ने आईआईटी बीएचयू से इंजीनियरिंग की है. वो अलख के साथ मिलकर काम करते हैं. प्रतीक पूरा बिजनेस संभालते हैं. दोनों का साथ ऐसा रहा कि कंपनी दिन-प्रतिदिन आसमान की ऊंचाइयां छूने लगी. और आज इस एडटेक कंपनी की नेट वर्थ 1.1 बिलियन डॉलर पहुंच गई है और फिजिक्सवाला देश की यूनिकॉर्न कंपनियों में शामिल हो चुका है.

Unacademy से चार करोड़ रुपये सालाना नौकरी की पेशकश की गई. जिसे अलख ने ठुकरा दिया था. इसके अलावा अलख ने 7.5 करोड़ रुपये के एक और ऑफर को ठुकरा दिया था.

अलख पांडेय ने कानपुर आईआईटी से साल 2015 में बीटेक की पढ़ाई की है. उसके बाद वो उसी संस्थान में पढ़ाने लगे और अपने लेक्चर का वीडियो यूट्यूब पर डालने लगे. इसका नतीजा ये हुआ कि वो यूट्यूब वीडियो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को बहुत पसंद आने लगी उन्हें छात्रों का भरपूर सहयोग मिला, जिससे उनके वीडियो के Views बढ़ने लगे. इसके बाद वह लगातार तीन साल तक ऐसे ही लेक्चर के वीडियो यूट्यूब पर अपलोड करते रहे.

इसके बाद कोरोना काल मे नीट और जेईई की तैयारी कर रहे बच्चो की परेशनियों को देखते हुए अलख ने एक ऐप तयार किया, जिसमें बहुत कम फीस में ऑनलाइन कोचिंग की सुविधा देने लगे. जिसमे रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान के कठिन सवालों के जवाब अलख बड़ी आसानी से देते थे. इसमें उनकी महारत हासिल हैं. जिससे अलख अभ्यर्थियों के बीच लोकप्रिय होते गए.

इसी खूबी के चलते फिजिक्सवाला के यूट्यूब चैनल के अभी तक 69 लाख सब्सक्राइबर बन गए हैं और 50 लाख ऐप डाउनलोड किए जा चुके हैं. इस सफलता के पीछे वह अपने पिता और अपने सहयोगी प्रतीक का भी बराबर का योगदान मानते हैं.

अलख पांडेय की एडटेक कंपनी 'फिजिक्सवाला' की नेट वर्थ 1.1 बिलियन डॉलर पहुंच गई है.
लखनऊ की 'BTC चाय वाली' की कहानी, ये है यूपी के युवाओं के दर्द और हौसले, दोनों की दास्तान

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in