मऊ: सरयू नदी में मिला 'चांदी' का शिवलिंग, पुलिस कब्जे में लेकर थाने ले आई, अब होगी जांच

मऊ: सरयू नदी में मिला 'चांदी' का शिवलिंग, पुलिस  कब्जे में लेकर थाने ले आई, अब होगी जांच
फोटो: दुर्गाकिंकर सिंह

मऊ जिले के दोहरीघाट थाना क्षेत्र में सरयू नदी के किनारे कुछ मल्लाहों को रेत में शिवलिंग दबा मिला है. आपको बता दें कि शिवलिंग को नदी से निकालने के बाद उसे गांव के एक मंदिर में ले जाया गया. इसके बाद मंदिर में ग्रामीणों ने शिवलिंग की पूजा अर्चना करनी शुरू कर दी. वहीं, दूसरी तरफ मामले की सूचना मिलने पर दोहरीघाट थाने की पुलिस ने पहले ग्रामीणों को समझाया और फिर शिवलिंग को थाने ले जाया गया.

आपको बता दें कि लोगों का मानना है कि यह शिवलिंग चांदी का है. मगर अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि शिवलिंग किस चीज या धातु का बना हुआ है. हालांकि जैसे-जैसे लोगों को शिवलिंग के बारे में जानकारी हो रही है, वह दोहरीघाट थाने में आकर उसके दर्शन कर रहे हैं. नदी से मिले शिवलिंग का वजन और उसकी प्रामाणिकता के साथ ही वह किस धातु से निर्मित है, उसके विषय में पुलिस स्वर्णकार और अन्य विशेषज्ञ से जांच करा रही है.
मऊ के एसपी अविनाश पांडे ने बताया, "मऊ जनपद के अंतर्गत थाना दोहरीघाट क्षेत्र स्थित घाघरा नदी में कुछ चमकती हुई चीज दिखाई दी, जिसके बाद पांच मल्लाहों की मदद से उसे बाहर निकला गया. यह चमकती चीज शिवलिंग जैसी दिखाई दी. इस शिवलिंग को ससम्मान थाने पर लाकर थाने के मालखाने में विधिवत पूजन करा कर रखा गया है."

उन्होंने आगे बताया, "जो लोग इसको लेकर आए थे और पुजारी जी के समक्ष इसका तौल कराया जा रहा है. ज्वेलर को बुलाया जा रहा है और उससे पूरी जांच कराई जाएगी. जो अन्य विशेषज्ञ एजेंसियां हैं उनसे भी जांच कराई जाएगी कि आखिर यह शिवलिंग किस क्षेत्र से हो सकता है या फिर इसके पीछे का प्रकरण क्या है. पूरी जांच करा कर जो आगे की कार्रवाई होगी, वह की जाएगी."

एसपी अविनाश पांडे के अनुसार, "अगर कोई बात सामने नहीं आती है तो जिस थाना क्षेत्र के लोगों ने इसको प्राप्त किया है, उनको विधि अनुसार सुपुर्द कर जो भी स्थापित करने की प्रक्रिया है, वह कराई जाएगी. लेकिन पहले इसकी सभी विशेषज्ञ एजेंसी से जांच कराई जाएगी."

मऊ: सरयू नदी में मिला 'चांदी' का शिवलिंग, पुलिस  कब्जे में लेकर थाने ले आई, अब होगी जांच
मऊ: बारिश के बीच गिरी आकाशीय बिजली, चपेट में आई दो महिलाओं की मौत

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in