लखनऊ: नलकूप विभाग के JE ने पत्नी और बेटी के साथ जहर खाकर दे दी जान, जांच में जुटी पुलिस

पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.
पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. फोटो: सत्यम मिश्रा, यूपी तक

लखनऊ के जानकीपुरम थाना क्षेत्र के अंतर्गत रहने वाले एक परिवार के 3 सदस्यों ने बुधवार को कथित तौर पर जहर खाकर अपनी जान दे दी. जानकारी के मुताबिक, नलकूप विभाग में जेई के पद पर तैनात शैलेंद्र कुमार,पत्नी गीता और बेटी प्राची की कथित तौर पर सुसाइड की वजह से मौत हुई है.

एक ही परिवार के 3 लोगों की मृत्यु पर जानकीपुरम इलाके में हड़कंप मच गया है. वहीं खुदकुशी करने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू कर दी है. हालांकि, खुदकुशी किन कारणों से की गई, इसकी पुलिस जांच कर रही है.

मौके से पुलिस को एक कथित सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें कुछ लोगों के नाम मृतकों ने लिखे है. पुलिस इस पर जांच कर रही है.

इस मामले को लेकर डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस नॉर्थ जोन कासिम आब्दी ने बताया कि घटना की जानकारी के बाद तत्काल घटनास्थल पर पुलिस पहुंची और तीनों को लखनऊ के ट्रामा सेंटर में इलाज के लिए भर्ती कराया गया, जहां तीनों की मृत्यु हो गई है. हालांकि तीनों ने जहर खाया या किसी ने दिया, अभी इसका पता लगाया जा रहा है.

डीसीपी ने बताया कि घटनास्थल से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें कुछ लोगों के नाम लिखे गए हैं. हम लोग उन नामों के व्यक्तियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करेंगे और पूछताछ करेंगे कि आखिर किस परिस्थितियों में ऐसी घटना को अंजाम दिया गया.

कासिम आब्दी ने बताया कि मृतक के परिवार में कुल 4 लोग थे. शैलेंद्र कुमार अपनी पत्नी और बेटी के साथ रहते थे. एक बेटा भी है, जो बाहर है. शैलेंद्र कुमार सुल्तानपुर के रहने वाले थे और नलकूप विभाग में जेई के पद पर तैनात थे.

उन्होंने आगे बताया कि फिलहाल मिली जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि सुसाइड नोट में कुछ लोगों के नाम लिखे गए हैं. जिन पर आरोप है कि वे मृतकों को लगातार धमकी दे रहे थे. जिसके बाद परिवार के तीन लोगों ने जहर खाकर जान दे दी है.

पुलिस की मानें तो जहर किन परिस्थितियों में लिया गया, इसकी भी जांच पड़ताल की जाएगी.

पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.
लखनऊ: संदिग्ध हालात में नर्स की मौत मामले में मिले कई अहम सुराग, PM रिपोर्ट से ये पता चला

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in