लखनऊ: लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वालों के खिलाफ केस दर्ज, अब सुंदर कांड का पाठ करने की चेतावनी

लखनऊ: लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वालों के खिलाफ केस दर्ज, अब सुंदर कांड का पाठ करने की चेतावनी
फोटो: यूपी तक

लखनऊ में लुलु मॉल में नमाज पढ़ने का वीडियो सामने आने के बाद मॉल प्रशासन ने उन नमाजियों के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है. दरअसल लुलु मॉल के उद्घाटन के बाद से ही वो चर्चा के केंद्र में है. मॉल में नजाम पढ़ने का वीडियो वायरल होने के बाद अखिल भारत हिंदू महासभा ने कड़ी आपत्ति जताते हुए शुक्रवार शाम को मॉल में सुंदरकांड का पाठ करने की चेतावनी दी है. इधर मामले को तूल पकड़ता देख लुलु मॉल प्रशासन ने सुशांत गोल्फ सिटी थाने में नमाजियों के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है.

फोटो: यूपी तक
अहम बिंदु

लुलु मॉल प्रशासन की तरफ से दी गई तहरीर में बताया गया है कि 12 जुलाई को लुलु मॉल परिसर में नमाज पढ़ने को लेकर सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के संबंध में लुलु मॉल के अधिकारियों की जांच में पाया गया कि मॉल में नियुक्त कोई भी अधिकारी या कर्मचारी इसमें सम्मिलित नहीं थे. जिस संबंध में मॉल मैनेजमेंट ने अज्ञात नमाजियों के विरुद्ध प्रार्थना पत्र दिया है. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच कर रही है.

फोटो: आशीष श्रीवास्तव

सीएम योगी ने किया था मॉल का उद्घाटन

लखनऊ में हाल ही में शुरू हुआ लुलु मॉल का रविवार यानी 10 जुलाई को उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था. इसके बाद मंगलवार यानी 12 जुलाई को एक वीडियो सामने आया है, जिसमें लुलु मॉल के कैम्पस में कुछ लोग नमाज पढ़ते दिखाई दिए. इसी बीच एस्केलेटर हादसे का एक वीडियो सामने आया है.

मॉल में नमाज अदा करने का वीडियो वायरल होने पर अखिल भारत हिंदू महासभा ने के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने कहा, "लुलु मॉल में फर्श पर लोगों ने बैठकर नमाज पढ़ी, इस वीडियो से यह सिद्ध हो गया कि लुलु मॉल में सरकार के आदेशों का उल्लंघन हुआ क्योंकि सरकार शुरुआत से ही सार्वजनिक स्थानों पर नमाज ना पढ़ने की हिदायत दे रही है." मुस्लिम मौलानाओं द्वारा भी कहा गया कि यदि नमाज पढ़नी है तो मस्जिदों में पढ़ें और ऐसे में जो कृत्य आज हुआ है, इसके लिए मैं योगी आदित्यनाथ जी से निवेदन करूंगा कि ऐसी घटना पर कार्रवाई की जाए ताकि फिर से ऐसा ना हो."

मॉल में बच्ची का एस्केलेटर में फंसा हाथ

इधर 13 जुलाई को परिवार के साथ लुलु मॉल घूमने पहुंची एक बच्ची का हाथ एस्केलेटर में फंस गया. इसके बाद मॉल में अफरा-तफरी का माहौल हो गया. मॉल में तैनात कर्मचारियों ने एस्केलेटर बंद करके बच्ची को सकुशल निकाल लिया. इस घटना का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है.

गौरतलब है कि लुलु मॉल शहर का सबसे बड़ा मॉल है, जो सुशांत गोल्फ सिटी में बना है. यह मॉल 2.2 मिलियन वर्ग फीट में बनाया गया है. यहां सबसे खास लुलु हाइपर मार्केट है. इसके साथ कई ब्रांड के शोरूम भी खोले गए हैं. मॉल में 15 रेस्टोरेंट और कैफे हैं. 25 ब्रांड आउटलेट के साथ फूड कोर्ट भी है, जिसमें 1600 लोग एक साथ बैठ सकते हैं.

लुलु ग्रुप की वेबसाइट के मुताबिक कंपनी के एमडी का नाम एमए युसुफ अली है. ग्रुप का सालाना टर्नओवर 8 बिलियन अमेरिकी डॉलर का है. इस ग्रुप का कारोबार अरब देशों खासतौर पर संयुक्त अरब अमीरात में काफी फैला हुआ है. इसका हेडक्वार्टर UAE की राजधानी अबू धाबी में है.

लखनऊ: लुलु मॉल में नमाज पढ़ने वालों के खिलाफ केस दर्ज, अब सुंदर कांड का पाठ करने की चेतावनी
42 देशों में कारोबार, 57000 से अधिक कर्मचारी, लखनऊ में लुलु मॉल बनवाने वाले शख्स की कहानी

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in