window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

नोएडा, लखनऊ, गोरखपुर में प्लॉट खरीदने से पहले कैसे जानें जमीन किसके नाम पर है? ये है तरीका

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

UP News: इस देश के हर नागरिक का एक सपना जरूर होता है कि उसके पास अपनी जमीन जरूर हो. जमीन खरीदने से पहले आम आदमी के मन में कई तरह के सवाल घूमते हैं. इन सवालों में एक सवाल यह जरूर होता है कि यह कैसे पता किया जाए कि जमीन किसके नाम है. वैसे अब हर घर में इंटरनेट पहुंचने के बाद इस सवाल का जवाब तलाशना आसान हो गया है. इंटरनेट की वजह से किसी भी जमीन के मालिक का नाम पता करने के लिए तहसील या ब्लॉक में जाने की जरूरत नहीं है. आज हम खबर में आपको सिलसिलेवार तरीके से बताएंगे कि आप ऑनलाइन कैसे किसी भी जमीन के मालिक का नाम या उस जमीन से संबंधित सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

नोएडा, लखनऊ, गोरखपुर जैसे शहरों में आप यह जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं कि उस जमीन के मालिक का नाम क्या है, तो आइए हम आपको नीचे कुछ आसान से स्टेप्स में पूरी प्रक्रिया बताते हैं, जिन्हें फॉलो कर आपके मन के सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे.

 

 

Step-1: भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट को खोलें

आप अगर किसी जमीन के मालिक का नाम पता करना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको अपने स्मार्टफोन में भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट https://upbhulekh.gov.in को खोलना होगा. 

Step-2: जिला, तहसील और घांव चुनें

भूलेख की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपको वहां पर जनपद तहसील एवं ग्राम चुनने का विकल्प दिखाई देगा. यहां से आप उस जमीन का जनपद, तहसील और ग्राम का चयन कर लें.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

Step-3  खसरा/गाटा संख्या के विकल्प का चयन करें

इतना करने के बाद आपके सामने कुछ विकल्प आएंगे जिसके माध्यम से आप जमीन के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. यहां पर आपको खसरा/गाटा संख्या के विकल्प का चयन करना है. उसके बाद बॉक्स में आपको उस जमीन का खसरा गाटा संख्या दर्ज करना है जिस जमीन के बारे में आप जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं और उसके बाद नीचे खोजें के विकल्प पर क्लिक करना है.

Step-4: खसरा/गाटा संख्या को सेलेक्ट करें

जैसे ही आप खोजें के विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके आसपास के सभी जमीनों का खसरा गाटा संख्या आपके सामने खुल जाएगा. अब आपको उस खसरा गाटा संख्या को सेलेक्ट करना है जिस खसरा गाटा संख्या वाले जमीन के बारे में आप जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं. उसके बाद नीचे आपको उद्धरण देखे के विकल्प पर क्लिक कर देना है.

ADVERTISEMENT

चरण 6: Captcha Code को वेरीफाई करें

इतना करने के बाद अंतिम में आपको कैप्चा कोड भरना है और वेरीफाई करना है कि आप इंसान हैं रोबोट नहीं हैं. इतना करने के बाद आपके सामने आपकी जमीन की सारी जानकारी खुल जाएगी कि आप की जमीन के मालिक कौन है और उस जमीन का क्षेत्रफल क्या है. इसके साथ-साथ आपके सामने उस जमीन का खसरा खाता संख्या की जानकारी भी खुलकर सामने आ जाएगी. अब आप उस जमीन के बारे में सारी जानकारी इकट्ठा कर सकते हैं.

ऑफलाइन ऐसे करें जमीन के मालिक का पता 

 

ADVERTISEMENT

अगर आप ऑफलाइन जाकर जमीन के मालिक का नाम पता करना चाहते हैं, तो आइए हम आपको नीचे कुछ आसान से स्टेप्स बताते हैं जिसे फॉलो कर आप ऑफलाइन भी जमीन के मालिक का नाम आसानी से पता कर सकते हैं.

 

 

Step 1: पटवारी के पास जाएं

अगर आप ऑफलाइन किसी भी जमीन के मालिक का नाम जानना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी पटवारी के ऑफिस जाना है, क्योंकि पटवारी के पास ही जमीन जायदाद से संबंधित सारी जानकारी रहती है और वहीं से किसी भी जमीन के बारे में जानकारी एकत्रित किया जा सकता है.

Step 2: अपने इलाके का नक्शा लें

पटवारी के ऑफिस जाने के बाद आप वहां से अपने इलाके का एक नक्शा लें, ताकि आप उस नक्शे को दिखा कर तहसीलदार को बता सकें कि आपको इस जमीन के बारे में जानकारी इकट्ठा करनी है.

Step 3: पटवारी से जमीन के बारे में पूछें

इतना करने के बाद आपको अपने इलाके के नक्शा में उस जमीन का चयन कर लेना है जिस जमीन के मालिक का नाम आप पता करना चाहते हैं. उसके बाद पटवारी से उस जमीन के बारे में पूछना है. इसके बाद पटवारी आपको उस जमीन से संबंधित सारी जानकारी दे देगा. आप इस प्रक्रिया से ऑफलाइन भी किसी जमीन के मालिक के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT