प्रयागराज: सांड के हमले में चली गई बुजुर्ग की जान, फूल बेचकर चलाते थे परिवार का खर्च

प्रयागराज: सांड के हमले में चली गई बुजुर्ग की जान, फूल बेचकर चलाते थे परिवार का खर्च
तस्वीर: यूपी तक.

सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ये वादा किया था कि 2022 में अगर यूपी में उनकी सरकार बनती है तो वो तत्काल अन्ना जानवरों की समस्याओं का सामाधान निकालेंगे, लेकिन वो वादा अब तक बस वादा ही रह गया है. अन्ना जानवरों की दहशत ऐसी है कि पता नहीं कब किसकी जान पर बन आए. प्रयागराज की नैनी फूलमंडी के रहने वाले भृगुनाथ वर्मा भी अन्ना जानवारों की इसी दहशत का शिकार हुए हैं.

किसी तरह फूल बेच कर घर चलाने वाले भृगुनाथ फूल बेच कर घर जा रहे थे, उसी समय सांड ने उनपर हमला कर दिया. जब तक बीच बचाव होता, भृगुनाथ की जान चली गई. अब हालात ये है कि गरीबी और मुफलिसी में जीने को मजबूर मृतक के परिवारवालों का रो-रो कर बुरा हाल है. घर में भृगुनाथ के अलावा कमाने वाला कोई नहीं है. ऐसे में अब आगे की जिंदगी कैसे कटेगी किसी को नहीं पता.

ऐसा नहीं है कि आवारा पशुओं की समस्या कोई नई बात है. प्रयागराज में तमाम ऐसे इलाके हैं, जहां अन्ना जानवरों ने लोगों का जीना हराम कर दिया है. 2022 विधानसभा चुनाव में इन मुद्दे को लेकर अखिलेश यादव ने सरकार को घेरने की कोशिश भी की, लेकिन चुनाव के बाद समस्या जस की तस रह गई.

खैर राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप तो चलता ही रहता है, लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि अकेले कमाने वाले भृगुनाथ के परिवार का अब क्या होगा? इस मामले से जुड़ी पूरी रिपोर्ट को खबर की शुरुआत में शेयर किए गए वीडियो पर क्लिक कर देखा जा सकता है.

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in