पिता ने घर-घर सिलिंडर बांट पाला, आज शाहरुख की KKR में हैं अलीगढ़ के रिंकू, जानें कहानी

कहते हैं प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती. जिस बच्चे को पिता ने घर-घर सिलेंडर बांट कर पाला वही बच्चा बना केकेआर की टीम का हीरो. मामला अलीगढ़ से जुड़ा है जहां एक गरीब पिता ने धूप व बरसात में साइकिल व कंधे पर गैस सिलेंडर रख कर घर-घर जाकर सिलेंडर डिलीवर किए थे, उन्हीं का बेटा IPL की KKR टीम का हीरो बना है. कभी पिता के साथ सिलेंडर डिलीवर करने जाया करता था, तो कभी किसी के यहां झाड़ू-पोछा किया. लेकिन आज रिंकू सिंह जिस मुकाम पर पहुंचे हैं वह उनकी मेहनत का नतीजा है.

अहम बिंदु

हम बात कर रहे हैं आईपीएल की टीम कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) में बीते दिन ऐतिहासिक जीत दर्ज कराने वाले अलीगढ़ के रिंकू की. रिंकू ने बीते दिन आईपीएल की टीम रॉयल राजस्थान (RR) राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 23 गेंद में 42 रन की नाबाद पारी खेल कोलकाता नाइट राइडर्स को 7 विकेट से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई.

रिंकू सिंह को इसके लिए मैन ऑफ द मैच से नवाजा गया. वहीं, पिछले पांच मैच में मिली हार के बाद रिंकू सिंह की विस्फोटक बल्लेबाजी के बदौलत केकेआर को जीत नसीब हुई. हालांकि, इस हरफनमौला क्रिकेटर ने न केवल बल्लेबाजी, बल्कि अपनी बेहतरीन फील्डिंग से भी टीम प्रबंधन व खिलाड़ियों का दिल जीतने का काम किया.

रिंकू सिंह यूपी के एक छोटे शहर अलीगढ़ से आईपीएल में आए हैं. वह पिछले 5 साल से लगातार क्रिकेट की बुलंदियों को छूने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन यह पहला मौका है, जब आईपीएल में रिंकू ने अपने शानदार बल्लेबाजी से न सिर्फ टीम को जीत दिलाई बल्कि मैन ऑफ द मैच का खिताब भी अपने नाम कर लिया.

एक गरीब परिवार से संबंध रखने वाले रिंकू और उनके परिवार का सफर बड़ा संघर्षपूर्ण रहा है. रिंकू के पिता एक गैस एजेंसी में गैस सिलेंडर डिलीवरी का काम करते हैं और उनकी मां एक हाउसवाइफ है. कभी-कभी रिंकू पिता के साथ सिलेंडर की डिलीवरी करने भी जाया करते थे. रिंकू का परिवार वहीं गैस एजेंसी में बने सर्वेंट क्वार्टर में रहता है. रिंकू के कुल 5 भाई-बहन है, जिसमें रिंकू तीसरे नंबर के हैं. वही बीते दिन रिंकू द्वारा रॉयल राजस्थान के खिलाफ दर्ज की गई ऐतिहासिक जीत के बाद परिवार में खुशी का माहौल है.

यहां ऊपर शेयर किए गए वीडियो में आप रिंकू सिंह के संघर्ष की पूरी कहानी उनके परिवार की जुबानी सुन और देख सकते हैं.

संबंधित खबरें

No stories found.