यूपी में बनेंगी एटीएस की 12 नई इकाइयां, देवबंद में कमांडो सेंटर बनने पर मचा बवाल

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर किए गए कब्जे के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने एक बड़ी पहल की है. योगी सरकार ने आतंकवादी गतिविधियों की रोकथाम के लिए यूपी पुलिस की विशेष शाखा एटीएस (आतंकवाद निरोधक दस्ते) की 12 नई इकाइयों को स्थापित करने की मंजूरी दी है. इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एटीएस को मजबूत बनाने के लिए प्रस्ताव भी मांगे हैं.

वहीं, देवबंद में एटीएस के कमांडो सेंटर की स्थापना के फैसले पर राजनीति गर्म हो गई है. सपा ने योगी सरकार के इस फैसले को मुसलमानों के खिलाफ बताते हुए इसका विरोध किया है.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

प्रदेश में कहां-कहां बनेंगी एटीएस की नई इकाइयां?

योगी सरकार ने प्रदेश के 10 संवेदनशील जिलों मेरठ, अलीगढ़, श्रावस्ती, बहराइच, ग्रेटर नोएडा (जेवर एयरपोर्ट), आजमगढ़ (निकट एयरपोर्ट), कानपुर, सोनभद्र, मिर्जापुर और देवबंद (सहारनपुर) में एटीएस इकाई और कमांडो ट्रेनिंग स्थापित करने का निर्णय लिया है. वहीं, वाराणसी और झांसी में एटीएस इकाई की स्थापना के लिए भूमि आवंटित होने की संभावना है.

ADVERTISEMENT

देवबंद में एटीएस के नए सेंटर बनने पर सियासत हुई तेज

ADVERTISEMENT

देवबंद सहारनपुर का वही इलाका है जहां दारुल उलूम नामक मदरसा स्थित है. कहा जाता है कि देवबंद स्कूल ऑफ थॉट्स से तालिबानी सोच निकली है. तालिबान का कमांडर हक्कानी दारुल उलूम मदरसे में पढ़ चुका है. वहीं, तालिबान का अफगानिस्तान पर कब्जा होने के बाद योगी सरकार द्वारा देवबंद में एटीएस कमांडो सेंटर खोलने पर राजनीति तेज हो गई है.

बीजेपी नेता शलभ मणि त्रिपाठी ने ट्वीट कर क्या कहा?

बीजेपी नेता और सीएम योगी के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने इस मामले में ट्वीट किया, “तालीबान की बर्बरता के बीच यूपी की खबर भी सुनिए, योगीजी ने तत्काल प्रभाव से ‘देवबंद’ में ATS कमांडो सेंटर खोलने का निर्णय लिया है. युद्धस्तर पर काम शुरू भी हो गया है. प्रदेश भर से चुने हुए करीब डेढ़ दर्जन तेज तर्रार एटीएस अफसरों की यहां तैनाती होगी.”

सपा ने जताया विरोध, बीजेपी ने किया पलटवार

देवबंद में एटीएस का कमांडो सेंटर खोले जाने पर समाजवादी पार्टी ने विरोध जताया है. सपा नेता व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा कि देवबंद इस्लामिक शिक्षा एक बड़ा केंद्र है जो पूरी दुनिया में धार्मिक और सामाजिक शिक्षा के लिए जाना जाता है. उन्होंने कहा कि एटीएस का कमांडो सेंटर खोलकर मुसलमानों को डराने की कोशिश है क्योंकि पश्चिमी यूपी में उनकी तादाद ज्यादा है.

वहीं, बीजेपी के शलभ मणि त्रिपाठी ने ट्वीट कर कहा, “देवबंद में यूपी ATS की यूनिट अभी खुली भी नहीं कि इसी बीच आतंकियों के पैरोकारों और उनके मुकदमे वापस लेने वालों के पेट में भीषण दर्द शुरू हो गया है.”

वहीं, कांग्रेस नेता व प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत ने कहा कि देवबंद में एटीएस कमांडों सेंटर खोला जा रहा है अच्छी बात है, लेकिन सीएम योगी इसका श्रेय न लें.

देवबंद में एटीएस सेंटर खोले जाने पर क्या है यूपी पुलिस का बयान?

यूपी के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने कहा है, “देवबंद में सरकार की ओर से 2,000 वर्ग मीटर जमीन एटीएस को आवंटित कर दी गई है और हम वहां जल्द ही अपनी यूनिट लगाएंगे.” उन्होंने आगे कहा, “देवबंद की विशेषता यह है कि वे उत्तराखंड और हरियाणा के बॉर्डर पर है और पश्चिमी यूपी में यह हमें अपनी उपस्थिति और संचालन दक्षता बढ़ाने में मदद करेगा.”

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT