एक्सक्लूसिव: 'अखिलेश मुझे तुरंत पार्टी से निकाल दें', क्या टूट गया शिवपाल के सब्र का बांध?

एक्सक्लूसिव: 'अखिलेश मुझे तुरंत पार्टी से निकाल दें', क्या टूट गया शिवपाल के सब्र का बांध?
शिवपाल यादव और अखिलेश यादव.(फाइल फोटो: @yadavakhilesh/ट्विटर)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के नतीजों के बाद समाजवादी पार्टी (एसपी) में एक बार फिर पारिवारिक लड़ाई सामने आ चुकी है. एसपी चीफ अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव के बीच इन दिनों सियासी जंग देखने को मिल रही है. इस बीच, बुधवार को अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल सिंह यादव को लेकर कहा था, "जो बीजेपी से मिलेगा वो समाजवादी पार्टी में नहीं रहेगा."

अब शिवपाल सिंह यादव ने अखिलेश यादव पर पलटवार करते हुए कहा है, "अगर हमारे नेता को यह लगता है कि मैं उनके साथ नहीं हूं तो मुझे तुरंत पार्टी से निकाल दें. बिल्कुल मुझे पार्टी से निकालने में अखिलेश यादव देर ना करें और जिस तरह का बयान उन्होंने दिया है उसके बाद तो अब वह मुझे पार्टी से निकाल दें."

यूपी तक से बातचीत में शिवपाल सिंह यादव ने कहा, "मैं कोई सहयोगी दल नहीं हूं, मैं उनके 111 विधायकों में से एक हूं, जो समाजवादी पार्टी के चुनाव चिह्न पर जीत कर आया है."

उन्होंने आगे कहा, "रही बात बीजेपी से संबंधों की तो जब वक्त आएगा मैं क्या फैसला लूंगा, वह मैं बताऊंगा. अभी पार्टी की समीक्षा चल रही है, कुछ दिनों के बाद जब समीक्षा होगी, तब मैं बताऊंगा कि मेरा फैसला क्या होगा."

शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान को लेकर कहा, "आजम खान का इस सरकार में उत्पीड़न हो रहा है. मैं चुनाव से पहले जेल में उनसे मिला था, परिवार से मेरे निजी संबंध हैं, मैं फिर उनसे मिलने जेल में जाऊंगा. लेकिन यह सच है कि उन पर झूठे मुकदमे लगातार लगाकर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है."

शिवपाल यादव और अखिलेश यादव.
शिवपाल रहेंगे या जाएंगे, अखिलेश बोले- 'जो BJP से मिलेगा वो समाजवादी पार्टी में नहीं रहेगा'

संबंधित खबरें

No stories found.