प्रयागराज हिंसा के आरोपी की बेटी का दावा- जिस मकान को PDA ने गिराया, वह मेरी मां के नाम था

प्रयागराज हिंसा के आरोपी की बेटी का दावा- जिस मकान को PDA ने गिराया, वह मेरी मां के नाम था
सुमैया ने दावा किया कि जिस मकान को पीडीए ने गिराया है, वह मेरी मां को नाना ने गिफ्ट किया था.फोटो कोलाज: यूपी तक

प्रयागराज हिंसा के मुख्य आरोपी मोहम्मद जावेद अहमद उर्फ पंप का करेली में 'अवैध रूप' से बने दो मंजिला मकान रविवार को बुल्डोजर से ध्वस्त कर दिया गया. प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) ने इस मकान को अवैध रूप से बना हुआ बताया.

प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) के मुताबिक, जावेद का मकान पीडीए से नक्शा पास कराए बगैर बनाया गया था जिसके लिए उसे 10 मई, 2022 को नोटिस जारी किया गया था और उसे अपना पक्ष रखने के लिए 24 मई, 2022 की तिथि आवंटित की गई थी. पीडीए के अनुसार निर्धारित तिथि पर जावेद या फिर उनका वकील नहीं आया और ना ही कोई अभिलेख प्रस्तुत किया गया, इसलिए 25 मई को ध्वस्तीकरण आदेश पारित किया गया.

इस बीच आरोपी मोहम्मद जावेद की बेटी सुमैया ने यूपी तक से बातचीत में दावा किया कि जिस मकान को पीडीए ने आज गिराया है, वह मेरी मां को नाना ने गिफ्ट किया था. उन्होंने कहा, "सरकारी दस्तावेजों में गिराया गया मकान मेरी मां के नाम ही है. मेरे पिता की कमाई से ना तो जमीन खरीदी गई थी ना ही मकान बना था."

सुमैया ने बताया, "शुक्रवार को जब हिंसा हुई तो मेरे अब्बू नमाज के बाद सीधे घर आए थे फोन पर लोगों को किसी भी तरह के हिंसक प्रदर्शन के लिए मना कर रहे थे. मेरी बहन फातिमा ने जेएनयू से पढ़ाई करने के बाद प्रयागराज से पीएचडी कर रही हैं."

सुमैया ने बताया कि 3 दिन से उनके पिता का पता नहीं चल रहा. पुलिस कुछ बता नहीं रही है. बता दें कि मामले में मुख्य आरोपी मोहम्मद जावेद को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

एक सवाल के जवाब में सुमैया ने बताया कि उमर खालिद के पिता का मेरे घर पर आना-जाना था, वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे और मेरे पिता जिलाध्यक्ष जिस के नाते वह प्रयागराज हमारे घर आते थे.

गौरतलब है कि प्रयागराज पुलिस के एक टॉप अधिकारी ने बताया कि जावेद वेलफेयर पार्टी ऑफ इंडिया से जुड़ा हुआ है. बता दें कि एसक्यूआर इलियास वेलफेयर पार्टी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष हैं. वह जेएनयू के पूर्व छात्र और दिल्ली 2020 दंगों के साजिशकर्ताओं में से एक उमर खालिद के पिता हैं.

सुमैया के मुताबिक, अब कानून का दरवाजा खटखटाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है, कानून से ही उम्मीद है.

सुमैया ने दावा किया कि जिस मकान को पीडीए ने गिराया है, वह मेरी मां को नाना ने गिफ्ट किया था.
प्रयागराज: '11 बजे गिरेगा घर', हिंसा के आरोपी के घर चिपकाई नोटिस फिर JCB आई और गिरा दिया

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in