window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

सीमा हैदर और सचिन को नेपाल पुलिस कर सकती है अरेस्ट? पूर्व पति गुलाम हैदर ने उठाया ये कदम

अरुण त्यागी

ADVERTISEMENT

Seema Haider and Sachin Meena
Seema Haider and Sachin Meena
social share
google news

Noida News : पाकिस्तान से आई सीमा गुलाम हैदर और सचिन मीणा की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. पाकिस्तान में सीमा के पूर्व पति गुलाम हैदर के वकील ने गृह मंत्रालय भारत सरकार और नेपाल व पाकिस्तान के दूतावास में शिकायत की है. उन्होंने शिकायत में कहा है कि, सचिन मीणा और सीमा हैदर ने गुलाम हैदर के बच्चों का अपहरण कर गलत तरीके से नेपाल-भारत बॉर्डर पर कर नेपाल का कानून तोड़ते हुए भारत में अवैध तरीके से लाए हैं. यहां पर उन बच्चों का धर्म परिवर्तन किया जा रहा है. 

पूर्व पति ने किया ये दावा

आपको बता दें कि पाकिस्तान की रहने वाली सीमा हैदर का पब्जी गेम के द्वारा भारत के ग्रेटर नोएडा के रहने वाले सचिन मीना से दोस्ती हो गई थी. धीरे-धीरे यह उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई, जिसके बाद नेपाल के एक होटल में सचिन मीणा और सीमा हैदर ने मुलाकात की थी. उसी होटल में दोनों सात दिन तक रहे. उसके बाद सीमा हैदर पाकिस्तान चली गई और सचिन मीणा भारत आ गया. इस मुलाकात के कुछ दिनों बाद सीमा हैदर पाकिस्तान से अपने चार बच्चों को लेकर नेपाल पहुंची और फिर नेपाल से अवैध रूप से भारत में प्रवेश करते हुए ग्रेटर नोएडा पहुंच गई और रबूपुरा सचिन मीणा के घर में रहने लगी. 

जब इस बात की जानकारी गौतम बुद्ध नगर पुलिस को जानकारी हुई तो पुलिस के आने से पहले ही सीमा हैदर सचिन मीणा के साथ बच्चों को लेकर फरार हो गई. इसके बाद नोएडा पुलिस ने फरीदाबाद से सभी को गिरफ्तार किया और जेल भेज दिया. जेल से जमानत मिलने के बाद सीमा हैदर, अपने चार बच्चों के साथ अब रबूपुरा में सचिन मीणा के घर पर पत्नी बनकर रह रही है. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

नेपाल पुलिस कर सकती है ये कार्रवाई

वहीं अब सीमा हैदर के पुराने पति पाकिस्तान निवासी गुलाम हैदर के वकील मोमिन मलिक ने सूरजपुर जिला न्यायालय में सचिन मीणा व सीमा हैदर सहित कई लोगों के खिलाफ याचिका दाखिल की है. याचिका में इन सभी को आरोपी बनाया गया है. इसके साथ ही मोमिन मलिक ने बताया कि, इस मामले में कड़ी कार्रवाई के लिए सीमा हैदर और सचिन मीणा के खिलाफ बच्चों का अपहरण करने की शिकायत गृह मंत्रालय भारत सरकार से की गई है. वहीं गलत तरीके से नेपाल भारत बॉर्डर पार करके भारत आने पर नेपाल का कानून तोड़ने और बच्चों को गलत तरीके से डिटेन करने और उनका धर्म परिवर्तन करने के खिलाफ नेपाल दूतावास व पाकिस्तान दूतावास में भी शिकायत की गई है.

पाकिस्तानी वकील ने कही ये बात

मोमिन मलिक ने बताया कि, 'बच्चों को गलत तरीके से भारत लेकर आने और उनका धर्म परिवर्तन करवाने के खिलाफ एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग ब्यूरो नेपाल में शिकायत की गई है.  इसके बाद नेपाल पुलिस जल्द ही भारत सरकार और यहां की पुलिस से संपर्क कर सचिन मीणा और सीमा हैदर से पूछताछ करेगी और बच्चों को बरामद कर नेपाल लेकर जाएगी.' इसके साथ ही मोमिन मलिक ने बताया कि, 'नेपाल के उसे होटल के मालिक ने भी सचिन मीणा और सीमा हैदर के खिलाफ नेपाल पुलिस से शिकायत की है. जहां पर यह दोनों एक सप्ताह के लिए रुके थे और इन्होंने अपना नाम व पता गलत बताया था. इस मामले में भी जल्द ही कानूनी कार्रवाई की जाएगी'

ADVERTISEMENT

वहीं इस मामले में इस मामले पर सीमा और सचिन के वकील डॉक्टर एपी सिंह ने बताया कि, 'पाकिस्तान में सभी बच्चे सीमा हैदर के पास ही रहते थे. सीमा हैदर के पिता की जब मौत हो गई उसके बाद उसका, सचिन से जान पहचान हुई और दोनों में प्यार हो गया. फिर सीमा और सचिन नेपाल के एक होटल में मिले जहां पर सीमा ने बताया कि वह अपने बच्चों को भी अपने साथ रखेगी. इस पर सचिन ने भी सहमति दी.  वहीं सीमा अपने बच्चों को लेकर नेपाल होते हुए भारत पहुंच गए. बच्चों की देखरेख के लिए सीमा ही सबसे अच्छी है क्योंकि वो उनकी मां है.'

सीमा का ये दावा

सीमा हैदर ने इस मामले में बताया कि, 'उसे ये बाताते हुए एक साल से ज्यादा हो गया कि गुलाम हैदर का साथ उसका तलाक हो गया है.  जब गुलाम हैदर से तलाक हुआ था तो उनके तीन बच्चे थे और वह गर्भवती थी. जिसके बाद वह अपने पिता के साथ मायके में रहती थी. पिता की मृत्यु के बाद उनका सचिन से संपर्क हुआ और उसके बाद वह चार बच्चों को लेकर भारत में सचिन के साथ रह रही हूं.  यहां पर मेरे बच्चे अच्छे से पढ़ाई कर रहे हैं और मोदी और योगी के राज में मेरे बच्चों का भविष्य सुरक्षित है.'

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT