लखनऊ: एसजीपीजीआई ने फिर रचा इतिहास, इस विधि से निकाला थायरॉइड कैंसर का ट्यूमर

लखनऊ: एसजीपीजीआई ने फिर रचा इतिहास, इस  विधि से निकाला थायरॉइड कैंसर का ट्यूमर
फोटो: सत्यम मिश्रा

Lucknow News: लखनऊ के एसजीपीजीआई अस्पताल ने थायरॉइड कैंसर का सफल ऑपरेशन रोबोट के माध्यम से किया है. मिली जानकारी के मुताबिक, प्रयागराज की रहने वाली 21 वर्षीय अविवाहित युवती के गले में थायरॉइड की गांठ हो गई थी, जो लगातार बढ़ती ही जा रही थी. इसके बाद युवती को प्रयागराज के कमला नेहरू अस्पताल में दिखाया गया, जहां डॉक्टरों ने आवश्यक जांचों के बाद बताया कि गांठ काफी बढ़ चुकी है और गांठ में कैंसर है. डॉक्टरों ने बताया कि बिना गले में चीरे-टांके के उसे निकालना संभव नहीं है.

ऐसे में सर्जरी के बाद चीरे-टांके के निशान को लेकर रोगी और उसका परिवार बहुत असहज और निराश हो गया. मरीज को परिजनों को निराश देख कमला नेहरू अस्पताल के डाक्टरों ने बिना गले में चीरा लगाए सर्जरी कराने के लिए मरीज को एसजीपीजीआई लखनऊ के रोबोटिक थायरॉइड सर्जन डॉ. ज्ञान चंद के पास रेफर किया.
अहम बिंदु

वहीं, डॉ. ज्ञान द्वारा आवश्यक जांच के बाद पाया गया कि रोगी को पैपिलरी थायरॉइड कैंसर है, जिसे रोबोटिक विधि द्वारा बिना गले में चीरा लगाए ही निकाला जा सकता है और जब यह परिजनों को पता चला तो वह सर्जरी के लिए सहमत हो गए.

इसके बाद डॉ. ज्ञान ने विगत शुक्रवार को चार घंटे चले ऑपरेशन में मरीज युवती के गले से कैंसर से ग्रसित थायरॉइड ग्रंथि समेत कई गांठों बिना गले में चीरा लगाए ही सफलता पूर्वक निकाल दिया. पीजीआई अस्पताल ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में दावा किया कि उत्तर प्रदेश औऱ संपूर्ण भारत के किसी भी सरकारी संस्थान में होने वाली यह पहली ऐसी सर्जरी की गई है, जिसमें थायरॉइड कैंसर को रोबोटिक सर्जरी द्वारा निकाला गया है.

लखनऊ: एसजीपीजीआई ने फिर रचा इतिहास, इस  विधि से निकाला थायरॉइड कैंसर का ट्यूमर
लखनऊ: 1 लाख का इनामी बांग्लादेशी को चढ़ा पुलिस के हत्थे, लूटपाट और डकैती के दर्ज हैं केस

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in