window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

ये महिला सिपाहियों को फंसती थी अपने जाल में, फिर कमरे में स्पाई कैमरा लगा करती थी ये कांड

रंजय सिंह

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Kanpur news: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में एक युवती ने अपराध करने का नया तरीका खोज निकाला. बता दें कि यह युवती फेसबुक पर दोस्ती कर युवकों को पहले प्रेमजाल में फांसती थी. इसके बाद शादी और फिर स्पाई कैमरे से अश्लील वीडियो बनाकर मोटी रकम वसूलती थी. मगर जब आरोपी युवती ने तीसरी बार एक युवक को अपने जाल में फंसाया तो उसने मामले की जानकारी पुलिस को दे दी. वहीं, पुलिस ने भी सोमवार को लुटेरी दुल्हन की करतूत का पर्दाफाश कर दिया.

आपको बता दें कि कानपुर देहात के पुखरायां निवासी शिवम, सीतापुर जेल में वॉर्डर के पद पर तैनात हैं. कुछ समय पहले शिवम की फेसबुक पर संगीता पाल नामक महिला से दोस्ती हुई. समय बीतने के साथ दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई. जून में दोनों ने शहर के मंधना स्थित आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली.

आरोपी युवती ने दी ये धमकी

पति-पत्नी बनने के बाद दोनों कल्यानपुर इलाके में किराए पर रहने लगे. पीड़ित ने बताया, “संगीता पाल ने स्पाई कैमरे से अपने साथ मेरा वीडियो बना लिया, फिर मुझे शादी के धमकी देते हुए 10 लाख की मांग करने लगी. मैंने जब इसके बारे में पता किया तो पता चला इसने कुछ दिनों पहले मध्य प्रदेश के पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल विनय कुमार यादव को भी फेसबुक के माध्यम से अपनी दोस्ती में फंसाया था. शादी के नाम पर उसको ब्लैकमेल करने लगी. इसके बाद उसने 19 लाख लेकर उसे समझौता ही नहीं किया बल्कि हर महीने उससे 6 हजार खर्चे के नाम पर भी लेती थी.’

ऐसे हुए पर्दाफाश

वहीं इस मामले में ज्यादा जानकारी देते हुए कल्याणपुर के इंस्पेक्टर धनंजय पांडे ने बताया कि ‘कानपुर देहात के रसूलाबाद में रहने वाली संगीता ने पहली शादी 2017 में आनंद बाबू से की थी. संगीता दो साल तक पहले पति के साथ रही. इस दौरान उसने पहले पति से लाखों रुपये की वसूली की. इसके बाद उसे नपुसंक बताकर बिना तलाक दिए छोड़ दिया था. महिला का ज्यादा पैसे कमाने के लालच में सिपाहियों को एक-एक करके ब्लैकमेलिंग के नाम पर लाखों रुपये वसूलने का मामला सामने आया है. फिलहाल महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है और ये रैकेट में और कितने लोग शामिल हैं इसका पता लगाया जा रहा है.’

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT