कौन थे कानपुर के मनीष, जिनकी ‘हत्या’ का आरोप पुलिस पर लगा, भाई बोले- ‘जॉइन की थी BJP’

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

कानपुर के बर्रा निवासी कारोबारी और प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है. आरोप हैं कि गोरखपुर गए मनीष को पुलिसवालों ने इतना पीटा कि उनकी मौत हो गई. मनीष की पत्नी मीनाक्षी ने 6 पुलिसवालों के खिलाफ गोरखपुर में FIR भी कराई है, जिनमें से 3 नामजद हैं. FIR में आईपीसी की धारा 302 लगाई गई है.

मृतक युवक के मौसी के लड़के मोहित ने बताया कि मनीष ने हाल में ही भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) जॉइन की थी और पार्टी के कार्यक्रमों में भी जाना शुरू किया था.

मनीष के पास थी MBA की डिग्री, कोरोना काल में लौटे थे कानपुर

मोहित ने यूपी तक को बताया कि उनके मौसी के लड़के मृतक मनीष गुप्ता ने एमबीए कर रखा था. वह पहले किसी प्राइवेट बैंक में मैनेजर थे. नोएडा में पति और पत्नी मीनाक्षी, दोनों जॉब कर रहे थे. कोरोना काल में दोनों कानपुर आ गए थे. उनका एक चार-पांच साल का लड़का है. मोहित के मुताबिक, मनीष चार महीने पहले बीजेपी में शामिल हुए थे.

पत्नी मीनाक्षी ने की है सीएम से मिलने की मांग

मृतक मनीष की पत्नी का कहना है कि उनकी मांगों पर लिखित आश्वासन मिलने और सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद ही मनीष का अंतिम संस्कार होगा. मीनाक्षी ने सीएम योगी के नाम एक लेटर लिखकर अपनी ये मांगें सामने रखी हैं:

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

  • ”मेरे परिवार की आजाविका के लिए मुझे सरकारी नौकरी प्रदान करवाने की कृपा करें.”

  • ”गुजारे भत्ते के तौर पर पचास लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करें.”

  • ADVERTISEMENT

  • ”गोरखपुर में दर्ज केस को कानपुर नगर में ट्रांसफर किया जाए. उसे फास्ट ट्रैक कोर्ट में संचालित किया जाए क्योंकि मेरे लिए अपने बुजुर्ग ससुर और बेटे को घर पर छोड़कर गोरखपुर जाना असंभव है.”

  • ”गोरखपुर में घटित इस घटना की सीबीआई जांच कराई जाए. होटल पर कार्रवाई हो. दोषी पुलिसकर्मियों/अधिकारियों के खिलाफ न्यायोचित कार्रवाई की जाए.”

  • ADVERTISEMENT

    क्या है मामला?

    सोमवार-मंगलवार की दरम्यानी रात को गोरखपुर के एक होटल में पुलिस की दबिश के बाद मनीष की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. मनीष के साथ होटल में रुके उनके दोस्त गुरुग्राम के रहने वाले अरविंद सिंह ने बताया कि वे होटल कृष्‍णा पैलेस के अपने रूम नंबर 512 में सो रहे थे.

    अरविंद ने बताया कि देर रात पुलिसवालों ने दरवाजा खुलवाया और आईडी चेक करने लगे, मनीष ने देर रात की जांच पर सवाल उठाए, पुलिसवाले सामान तक चेक करने के बाद पीटने लगे. अरविंद का आरोप है कि पुलिसवाले शराब के नशे में भी थे, देर रात में की जा रही चेकिंग को लेकर सवाल पूछने पर उन्होंने पीटा.

    पुलिस पिटाई से मौत? प्रियंका ने मृतक की पत्नी से की बात, अखिलेश-माया का योगी सरकार पर हमला

      follow whatsapp

      ADVERTISEMENT