नरेंद्र गिरि केस: पुलिस ने CBI को सौंपे दस्तावेज, आनंद गिरि की कस्टडी मांगेगी जांच एजेंसी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

अखिल भारतीय अखड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत मामले की जांच अब CBI कर रही है. केंद्रीय जांच एजेंसी इस मामले में मुख्य अभियुक्त और नरेंद्र गिरि के शिष्य आनंद गिरि की कस्टडी कोर्ट से मांग सकती है. सूत्रों के मुताबिक CBI इस संबंध में कोर्ट में आवेदन दे सकती है.

आपको बता दें कि महंत नरेंद्र गिरि के कथित सुसाइड लेटर में आनंद गिरि, आद्या तिवारी और आद्या तिवारी के बेटे संदीप तिवारी के नाम का जिक्र है. इसमें आरोप लगाया गया है कि इन्हीं तीनों लोगों ने मिलकर खुदकुशी के लिए मजबूर किया. तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और स्थानीय अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

यूपी पुलिस से इस मामले की जांच अपने हाथों में लेने के बाद सीबीआई की स्पेशल क्राइम यूनिट की 6 सदस्यीय टीम प्रयागराज में है. प्रयागराज पुलिस ने महंत नरेंद्र गिरि की मौत से संबंधित सारे दस्तावेज सीबीआई को सौंप दिए हैं. सीबीआई ने जांच अधिकारी, इंस्पेक्टर जॉर्ज टाउन से FIR कॉपी, केस डायरी, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, समेत सभी दस्तावेज अपने कब्जे में ले लिए हैं. सीबीआई की क्राइम ब्रांच यूनिट बाघंबरी गद्दी का मुआयना भी कर सकती है.

उधर, प्रयागराज की नैनी जेल में बंद आरोपी आनंद गिरि ने आरोप लगाया है कि उनकी जान को खतरा है. इसके बाद नैनी जेल प्रशासन ने जेल के अंदर सुरक्षा बढ़ा दी है. आपको बता दें कि महंत नरेंद्र गिरि बाघंबरी गद्दी के कमरे में मृत पाए गए थे. उनके सहयोगियों ने पुलिस को बताया था कि जब उनके फोन पर कॉल का जवाब नहीं मिला, तो दरवाजा तोड़ा गया. उनके मुताबिक नरेंद्र गिरि का शरीर पंखे से लटका मिला था.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT