window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

UP Weather Update: क्या आपको पता है इस बार क्यों पड़ रही है भीषण गर्मी? वजह जान चौंक जाएंगे

यूपी तक

ADVERTISEMENT

UP Weather Update
UP Weather Update
social share
google news

UP Weather Update: भीषण गर्मी के सितम से हर कोई परेशान है. आलम ऐसा है कि दिन छोड़िए रात के समय में भी AC की हवा से रूम में ठंडक नहीं पहुंच रही है. वहीं, चिलचिलाती गर्मी की वजह से लोगों का कहीं बाहर जाना भी मुश्किल हो गया है. ऐसे में हर तरफ यही चर्चा है कि आखिर सूबे में इस बार इतनी भीषण गर्मी क्यों पड़ रही है. आइए खबर में आगे जानते हैं कि आखिर इस बार इतनी ज्यादा गर्मी क्यों है?

क्या है भीषण गर्मी पड़ने का कारण?

 

मालूम हो कि इस बार गर्मी बढ़ने का अहम कारण ग्लोबल क्लाइमेट चेंज बताया जा रहा है. ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह से अब सिर्फ भारत में ही नहीं, बल्कि दुनिया भर में तापमान बढ़ने की खबरें हैं. इसकी वजह से ही नॉर्थ इंडिया में खास तौर से उत्तर प्रदेश में हीटवेव की स्थिति लगातार बनी हुई है. साथ ही हर जगह वेदर पैटर्न में बदलाव हुआ है, अल नीनो की स्थिति भी इसका कारण है.

 

 

क्या होता है अल नीनो की वजह से?

अलनीनो की स्थिति में हवाएं उल्टी बहती हैं और महासागर के पानी का तापमान भी बढ़ जाता है, जो दुनिया के मौसम को प्रभावित करता है. इससे तापमान में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. इसके अलावा गर्मी बढ़ने के कारण एग्रीकल्चर स्थितियों में हो रहे बदलाव, प्रकृति का डिसबैलेंस आदि भी है. पर्यावरण में हो रहे इन बदलाव की वजह से वार्म नाइट की स्थिति बनने लगी है, जिससे रात में गर्मी से आराम नहीं मिलता.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

यूपी में इस बार देर से आ रहा मॉनसून 

माना जा रहा है कि 20 जून के बाद मॉनसून की पहली बारिश पड़ सकती है. वहीं 20 जून तक पश्चिम यूपी में  इन इलाकों में हरदोई, फर्रुखाबाद, कन्नौज, कानपुर देहात, कानपुर नगर, उन्नाव, शामली, बागपत, मेरठ, गाजियाबाद, हापुड़, गौतमबुद्ध नगर, बुलंदशहर, अलीगढ़, मधुरा, हाथरस, कासगंज, एटा, आगरा, फिरोजाबाद मैनपुरी, इटावा, औरैया, जालौन, हमीरपुर, झांसी, ललितपुर और आसपास के क्षेत्रों में तेज लू चलने की संभावना है. वहीं गाजियाबाद-नोएडा में भी 30 जून तक मॉनसून की बारिश के आसार हैं. फिलहाल ये तय है कि मॉनसून आने के बाद  यूपी के लोगों को भीषण हीट वेव से राहत मिलेगी. पिछले काफी दिनों से जिस तरह से यूपी पर गर्मी ने अपना कहर बरपाया है, उसे देखते हुए मॉनसूनत की आहट, यूपी के लोगों को बड़ी राहत देने जा रही है.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT