Hanuman Jayanti 2024: चैत्र पूर्णिमा के दिन है हनुमान जयंती, जाने शुभ मुहूर्त और चमत्कारिक उपाय

ADVERTISEMENT

हनुमान जयंती 2024 पूजन मुहूर्त
हनुमान जयंती 2024 पूजन मुहूर्त
social share
google news

Hanuman Jayanti 2024: हिंदू कैलेंडर के मुताबिक हनुमान जयंती चैत्र मास की पूर्णिमा तिथि को मनाई जाती है. इस बार की हनुमान जयंती 23 अप्रैल को मनाई जा रही है. इस साल की हनुमान जयंती बेहद खास है क्योंकि ये मंगलवार को पड़ रही है. हनुमान जी हिंदुओं के बड़े शक्तिशाली भगवान समझे जाते हैं. इनको भगवान शंकर का अंश माना जाता है. वायुदेव का भी अंश माना जाता है. संकट कटे मिटे सब पीरा जो सुमिरे हनुमत बल बीरा, तुलसीदास जब ये पंक्ति लिखल रहे थे, तो यही बताने की कोशिश कर रहे हैं कि सिर्फ हनुमान जी का सुमिरन करने से ही सारे संकट दूर हो जाते हैं. 

आपको बता दें कि रामनवमी से ठीक 6 दिन बाद हनुमान जयंती मनाई जाती है. हनुमान जी की पूजा करने से धन, संपत्ति, विद्या, सेहत, वैभव, संतान इत्यादि सारे सुख हासिल किए जा सकते हैं. 

हनुमान जयंती पर शुभ संयोग

हमारे सहयोगी गुड न्यूज टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक हनुमान जयंती 23 अप्रैल को सुबह 3:25 पर शुरू होगी. यह शुभ मुहूर्त 24 अप्रैल को सुबह 5:18 बजे तक रहेगा. ऐसी मान्यता है कि  सुबह या सोने से पहले या कोई भी नया काम शुरू करने से पहले हनुमान जी के 12 नामों का जाप करना चाहिए. कोई यात्रा की शुरुआत कर रहे हैं, तो भी 12 नाम का जाप करें. पीले कागज पर लाल रंग से हनुमान जी के 12 नाम लिखें. इन नामों को घर के मुख्य द्वार और पूजा स्थान पर लगाएं. इन 12 नामों का रोज सुबह 9 बार जाप करना चाहिए. ऐसी मान्यता है कि हनुमान जी के 12 नामों के जप से सारी विपदाओं को टाला जा सकता है. हनुमान जी के 12 नामों का स्मरण कल्याणकारी माना जाता है और इससे जीवन की सारी बाधाएं दूर हो जाती हैं. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

अगर कुंडली में है मंगल का दोष तो पंडित शैलेंद्र पांडेय से समझें उपाय

ज्योतिषी पंडित शैलेंद्र पांडेय के मुताबिक अगर आपकी कुंडली में मंगल का दोष हो और इसकी वजह से आपका विवाह नहीं हो पा रहा हो या इस दोष से वैवाहिक जीवन में दिक्कत आ रही है, तो हनुमान जयंती पर हनुमान जी का संपूर्ण श्रृंगार करिएय. चांदी के वर्क का इस्तेमाल मत कीजिएगा.हनुमान जी को रेशम का लाल धागा उनके चरणों में रखकर अर्पित करिए. फिर मंगल के मंत्र 'ओम क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः' का जाप करिए और हनुमान जी से प्रार्थना कीजिएगा कि आपको मंगल दोष से मुक्त करें. इसके बाद उस लाल धागे को गले में धारण कर लीजिए.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT