RLD चीफ जयंत चौधरी ने एक महीने के लिए सरनेम में 'बिश्नोई' जोड़ ट्विटर पर खुद बताई इसकी वजह

RLD चीफ जयंत चौधरी ने एक महीने के लिए सरनेम में 'बिश्नोई' जोड़ ट्विटर पर खुद बताई इसकी वजह
आरएलडी चीफ जयंत चौधरी.फोटो: @jayantrld/ ट्विटर

अगर आप जयंत चौधरी का आधिकारिक ट्विटर हैंडल चेक करेंगे तो यहां उनका नाम अब आपको 'जयंत सिंह बिश्नोई' दिख रहा होगा. असल में राष्ट्रीय लोकदल (RLD) चीफ और राज्यसभा सांसद जयंत चौधरी ने एक महीने के लिए अपने सरनेम में बिश्नोई टाइटल को ऐड किया है. इसकी वजह भी उन्होंने ट्विटर पर बताई है, जिसे उनके Pinned ट्वीट में देखा जा सकता है. इस कहानी का पंजाब कनेक्शन है, जहां पिछले दिनों पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या कर दी गई थी. इनके इस ट्विट का विश्नोई समाज ने स्वागत किया है.

स्क्रीन ग्रैब: जयंत सिंह के ट्विटर से.
अहम बिंदु

जयंत चौधरी ने ट्वीट कर अपने नाम में बिश्नोई जोड़ने की वजह बताई है. इस मामले को 6 जून को किए गए जयंत चौधरी के एक ट्वीट से समझा जा सकता है. इस ट्वीट में आरएलडी चीफ ने लिखा, 'कुछ मीडिया एक आपराधिक समूह को बार बार बिश्नोई गैंग बताके पर्यावरण संरक्षण के प्रति सजग रहने वाले, शांतिप्रिय बिश्नोई समाज की भावना आहत कर रहा है!'

जयंत चौधरी ने भले इस ट्वीट में जिक्र न किया हो, लेकिन ये मामला पंजाब की एक हालिया घटना से जोड़कर देखा जाना लगा. दरअसल पंजाब में पिछले दिनों गायक और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला की हत्या कर दी गई. इस हत्याकांड के पीछे अपराधी लॉरेंस बिश्नोई का नाम सामने आया. ऐसा माना जा रहा है कि इस हत्याकांड की रिपोर्टिंग में 'बिश्नोई गैंग' जैसी शब्दावलियों के इस्तेमाल को लेकर जयंत चौधरी ने आपत्ति जताई.

स्क्रीन ग्रैब: जयंत सिंह के ट्विटर से.
यह मामला और साफ तब हुआ जब 7 जून को जयंत चौधरी ने अपने नाम में बिश्नोई जोड़ते हुए एक और ट्वीट किया. इस ट्वीट में जयंत ने लिखा, 'क्या आप जानते हैं, मेरे नाम में चौधरी अजित सिंह जी की इच्छा अनुरूप कुमार भी है? माताजी के स्मृति में और शांतिप्रिय बिश्नोई समाज के सम्मान में जून माह के लिए ट्विटर पर नाम जोड़ा है। ऐसे वक्त जब धर्म और जाति पर आधारित बँटवारों पर चर्चा है, शायद कुछ लोगों के आँखों से पर्दे उठ जाएं!'

जयंत चौधरी ने इस ट्वीट में अपनी मां का जिक्र किया. इसे समझने के लिए यूपी तक ने आरएलडी के प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक चौधरी से बात की. उन्होंने बताया कि जयंत चौधरी की माता जी का गोत्र बिश्नोई गोत्र ही है. अभिषेक चौधरी ने आगे बताया कि जिस तरह से एक समाज का गलत चित्रण किया जा रहा था, उसके विरोध में हमारे नेता ने एक महीने के लिए अपने सरनेम में बिश्नोई जोड़ा है.

स्क्रीन ग्रैब: देवेंद्र विश्नोई के ट्विटर से.

ध्यान देने वाली बात है कि जयंत चौधरी के इस पहल का विश्नोई समाज ने स्वागत किया है. अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवेंद्र विश्नोई ने ट्विट कर कहा- 'बिश्नोई समाज का राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते अति सुंदर पहल के लिए संपूर्ण बिश्नोई समाज की तरफ से हार्दिक आभार श्रीमान @jayantrldजी'.

आरएलडी चीफ जयंत चौधरी.
राज्यसभा चुनाव : उत्तर प्रदेश से जयंत, सिब्बल समेत 11 सदस्य निर्विरोध निर्वाचित

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in