window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

पत्नी के नाम प्रॉपर्टी बना निश्चिंत था मुख्तार का चेला अफरोज, बाराबंकी DM ने अकल ठिकाने लगाई

आशीष श्रीवास्तव

ADVERTISEMENT

Barabanki police attached the property of Afroz, close to Mukhtar Ansari know
Barabanki police attached the property of Afroz, close to Mukhtar Ansari know
social share
google news

Mukhtar Ansari: बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी कानून के शिकंजे में बुरी तरह से फंस चुका है. योगी सरकार द्वारा लगातार मुख्तार अंसारी और उसके गिरोह के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. हालत ऐसे बन चुके हैं कि माफिया मुख्तार के करीबियों पर भी आफत आ पड़ी है. इसी बीच योगी सरकार ने माफिया मुख्तार अंसारी के शातिर चेलों में से एक अफरोज के खिलाफ भी बड़ी कार्रवाई की है.

दरअसल अफरोज, माफिया डॉन मुख्तार अंसारी का पक्का चेला था. उसकी गिनती मुख्तार के खास चेलों में की जाती थी. मुख्तार के दम पर अफरोज ने काफी पैसा कमाया और कई संपत्तियां खरीदी. अफरोज जो भी संपत्ति खरीदता था, वह उसे अपनी पत्नी के नाम दर्ज करवा देता था. मगर अब अफरोज भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के निशाने पर आ गया है. बता दें कि योगी सरकार ने अफरोज की कई संपत्तियों को कुर्क कर दिया है.

अफरोज के खिलाफ ताबड़तोड़ एक्शन

बता दें कि बाराबंकी पुलिस ने मुख्तार के करीबी अफरोज के खिलाफ कार्रवाई की है. पुलिस ने लखनऊ के मदेयगंज थाना क्षेत्र में अफरोज की संपत्ति को कुर्क किया है. अफरोज खान, मुख्तार अंसारी के गिरोह में चुन्नू के नाम से जाना-पहचाना जाता था. अफरोज ने अपनी पत्नी के नाम से अवैध संपत्ति बना रखी थी.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

अफरोज जितनी भी संपत्ति अवैध तौर से खरीदता या कब्जा करता, उसे अपनी पत्नी के नाम दर्ज करवा देता. मगर अब जब मुख्तार अंसारी पर पूरी तरह से नकेल कस गई है और उसके काले कारोबार को मिट्टी में मिलाया दिया गया है, ऐसे में अब पुलिस और सरकार की नजर मुख्तार के करीबी लोगों पर है. इसलिए योगी सरकार के निशाने पर अब अफरोज भी आ गया है.

बाराबंकी DM के आदेश के बाद हुई कार्रवाई

बता दें कि अफरोज के खिलाफ इस सख्त कार्रवाई के आदेश खुद बाराबंकी जिलाधिकारी ने दिए हैं. इसके बाद बाराबंकी पुलिस ने अफरोज के खिलाफ ये बड़ी कार्रवाई की. बताया जा रहा है कि पुलिस ने मदेयगंज थाना क्षेत्र में अफरोज की करीब 1 करोड़ 45 लाख की संपत्ति को कुर्क कर दिया है. इसी के साथ माफिया मुख्तार अंसारी के गिराह का एक सदस्य भी पुलिस और योगी सरकार के निशाने पर आ गया है.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT