लखीमपुर खीरी हिंसा | केजरीवाल बोले- ‘ऐसा लगता है कि उस गाड़ी ने पूरे सिस्टम को कुचल दिया’

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में पूछा है कि अभी तक ‘हत्यारों को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया? आखिर क्या मजबूरी है, उन्हें क्यों बचाया जा रहा है?’

केजरीवाल ने 6 अक्टूबर को कहा, ”हत्यारों ने दिन दहाड़े इतनी भीड़ के सामने किसानों को अपनी गाड़ी से कुचल दिया. फिर भी अभी तक हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हुई है. उन्हें क्यों बचाया जा रहा है? सरेआम इतनी भीड़ के सामने कोई इतने लोगों को रौंदते हुए निकल जाए और पूरा सिस्टम उस हत्यारे के सामने नतमस्तक हो जाए, घुटने टेक दे, उसे बचाने में लग जाए ऐसा तो हिंदी फिल्मों में देखा करते थे.”

केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा, ”प्रधानमंत्री जी आज हर देशवासी टीवी और सोशल मीडिया पर देख रहा है कि एक गाड़ी आई और किसानों को रौंदकर चली गई, जिस तरह से पूरी सरकार हत्यारों को बचाने में लगी हुई है, इससे क्या संदेश दिया जा रहा है.”

इसके आगे उन्होंने कहा,

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

”अगर आप कोई नेता हो या अमीर हो तो क्या आप अपनी गाड़ी से किसी को भी कुचल सकते हो? उस गाड़ी ने सिर्फ वहां मौजूद किसानों को नहीं कुचला, बल्कि इस देश के सभी किसानों को कुचला है, इस देश के गरीबों को कुचला है. ऐसा लगता है कि उस गाड़ी ने पूरी सरकार को ही कुचल दिया है, पूरे सिस्टम को कुचल दिया है.”

अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री, दिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा, ”आखिर वहां ऐसा क्या है जो छिपाया जा रहा है… आखिर किसानों से इतनी नफरत क्यों है, किसानों ने क्या बिगाड़ा है, आज सिस्टम के लोग कह रहे हैं कि उस गाड़ी में मंत्री जी का बेटा था नहीं, एक हफ्ते के बाद पूरा सिस्टम कहेगा कि वहां तो गाड़ी ही नहीं थी. उसके एक हफ्ते के बाद सारा सिस्टम कहने लगेगा कि वहां तो किसान ही नहीं थे.”

ADVERTISEMENT

केजरीवाल ने कहा, ”सच ये है कि यहां सिर्फ न्याय नहीं है, आज हर देशवासी न्याय की मांग कर रहा है, फैसला आपको लेना है. प्रधानमंत्री जी सारा देश चाहता है कि जिन लोगों पर हत्या का आरोप है, उन्हें तुरंत गिरफ्तार किया जाए, संबंधित मंत्री को कैबिनेट से आप तुरंत बर्खास्त करें और पीड़ित परिवारों से मिलें.”

क्या है लखीमपुर खीरी हिंसा मामला?

यूपी के लखीमपुर खीरी के तिकुनिया इलाके में 3 अक्टूबर को भारी हिंसा हुई थी. यूपी पुलिस के मुताबिक, इस हिंसा में कुल 8 लोगों की मौत हुई है. हिंसा की यह घटना तिकुनिया से 4 किलोमीटर दूर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के पैतृक गांव बनवीरपुर में आयोजित कुश्ती कार्यक्रम में यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के पहुंचने से पहले हुई.

ADVERTISEMENT

संयुक्त किसान मोर्चा के मुताबिक, प्रदर्शनकारी किसान मौर्य के कार्यक्रम का शांतिपूर्ण तरीके से विरोध कर रहे थे. मोर्चा ने आरोप लगाया है कि टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के गाड़ियों के काफिले ने किसानों को रौंदा. बताया जा रहा है कि यह काफिला डिप्टी सीएम को रिसीव करने के लिए आ रहा था.

इस मामले में आशीष मिश्रा ने दावा किया है कि घटना के वक्त वह काफिले की गाड़ियों में मौजूद नहीं थे. इसके साथ ही आशीष ने दावा किया है, ”हमारे कार्यकर्ता डिप्टी सीएम को रिसीव करने जा रहे थे, जैसे ही वो लोग तिकुनिया से निकले, तो अपने आप को किसान कहने वालों ने आक्रमण कर दिया.”

लखीमपुर खीरी हिंसा | अखिलेश बोले- ‘टेनी अब भी मंत्री तो उनके घर में पुलिस कैसे घुसेगी?’

follow whatsapp

ADVERTISEMENT