शिवपाल पर हुआ सवाल तो 'अनजान' बन गए अखिलेश, चंदौली की घटना में बताया जाति का एंगल

शिवपाल पर हुआ सवाल तो 'अनजान' बन गए अखिलेश, चंदौली की घटना में बताया जाति का एंगल
अखिलेश यादव और शिवपाल यादव.फोटो कोलाज: यूपी तक

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के नतीजों के बाद पहली बार समाजवादी पार्टी (एसपी) चीफ अखिलेश यादव ने यूपी तक से खास बातचीत की है. इस बातचीत में उन्होंने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव के एक ट्वीट से लेकर चंदौली में दबिश के दौरान युवती के मौत मामले पर अपनी राय सामने रखी है.

ईद के मौके पर अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव ने एक ट्वीट कर राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज कर दी है. दरअसल, उन्होंने ईद की बधाई देते हुए एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने अपने भतीजे अखिलेश यादव पर अप्रत्यक्ष तौर पर तीखा हमला बोला.

उन्होंने ट्वीट कर कहा था, "अपने सम्मान के न्यूनतम बिंदु पर जाकर मैंने उसे संतुष्ट करने का प्रयास किया. इसके बावजूद भी अगर नाराज हूं तो किस स्तर तक उसने हृदय को चोट दी होगी! हमने उसे चलना सिखाया.. और वो हमें रौंदते चला गया..एक बार पुनः पुनर्गठन,आत्मविश्वास और सबके सहयोग की अप्रतिम शक्ति से ईद की मुबारकबाद."

शिवपाल सिंह यादव के इस ट्वीट पर जब अखिलेश यादव से उनकी प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा कि मैंने उनका ट्वीट नहीं पढ़ा है.

वहीं अखिलेश यादव ने प्रदेश में 'बिजली संकट' को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, "यह सरकार निरंतरता की है, अगर सरकार ने बिजली का इंतजाम किया होता तो शायद आज लोगों को बिजली संकट से नहीं जूझना पड़ता है."

एसपी चीफ ने कहा, "सरकार ने बिजली को लेकर जो चुनावी वादा किया था, उसे पूरा करे. सरकार किसानों को फ्री बिजली क्यों नहीं दे पा रही है?"

चंदौली में गैंगस्टर कन्हैया यादव के घर पर पुलिस टीम की दबिश के दौरान युवती की मौत के मामले को लेकर अखिलेश ने कहा, "योगी सरकार में यह पहली घटना नहीं है. इससे पहले गोरखपुर, हाथरस में भी यह सब हो चुका है. चंदौली में जो हुआ है वह धर्म के आधार पर है, जाति के आधार पर भेदभाव हो रहा है. यह गिनती होनी चाहिए कि कौन लोग हैं जो अन्याय कर रहे हैं."

बता दें कि सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर गांव के रहने वाले कन्हैया यादव नाम के एक गैंगस्टर और जिलाबदर अपराधी के घर पुलिस रविवार की शाम दबिश देने गई थी. कोर्ट द्वारा कन्हैया यादव के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी हुआ था और पुलिस उसकी तलाश में रविवार की शाम उसके घर पर दबिश देने गई थी.

इस दौरान पुलिस टीम पर घर में मौजूद कन्हैया यादव की दो बेटियों के साथ मारपीट करने का आरोप लगा. आरोप है कि पुलिस टीम की पिटाई से कन्हैया की एक बेटी की मौत हो गई, जबकि दूसरी की हालत बिगड़ गई.

अखिलेश यादव और शिवपाल यादव.
चंदौली में युवती की मौत मामले में राजनीति तेज, केशव मौर्य बोले- 'अखिलेश यादव बौखला गए हैं'

संबंधित खबरें

No stories found.