पिता मुलायम को याद कर अखिलेश बोले- आज पहली बार नेताजी के जन्मदिन को उनके बिना मना रहे हैं

पिता मुलायम को याद कर अखिलेश बोले- आज पहली बार नेताजी के जन्मदिन को उनके बिना मना रहे हैं
फोटो: समाजवादी पार्टी के ट्विटर हैंडल से.

समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) 'नेताजी' की आज यानी 22 नवंबर को जयंती है. नेताजी की जयंती के मौके पर सैफई महोत्सव के पंडाल में एक कार्यक्रम में आयोजित हुआ, जहां मुलायम की जयंती मनाई गई. इस दौरान मुलायम सिंह यादव द्वारा किए गए कार्यों को याद किया गया. बता दें कि इसी साल 10 अक्टूबर को नेताजी ने गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में आखिरी सांस ली थी.

नेताजी की जयंती के अवसर पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav), प्रसपा चीफ शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav), रामगोपाल यादव (Ram Gopal Yadav), डिंपल यादव (Dimple Yadav) समेत परिवार के अन्य लोग एक मंच पर एक साथ नजर आए.

सैफई महोत्सव के पंडाल में आयोजित कार्यक्रम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने दिवंगत पिता मुलायम सिंह यादव को याद करते हुए कहा कि आज पहली बार हम उनके (नेताजी) जन्मदिन को उनके बिना मना रहे हैं.

अखिलेश ने कहा कि आज हम जहां बैठे हैं, जो आसपास विकास दिखाई पड़ रहा है वो सब मुलायम सिंह यादव की देन है.

अखिलेश यादव ने सैफई पंडाल बनने का जिक्र करते हुए बताया कि कैसे रात भर बारिश के बाद अगले दिन होने वाले सैफई महोत्सव को करवाया, लेकिन वादा किया अगले साल हम बारिश का भी सामना कर लेंगे और यह सैफई महोत्सव पंडाल बना.

सपा अध्यक्ष ने कहा, "आज शहीद सैनिकों के शव पूरे सम्मान के साथ उनके गांव पहुंच रहे हैं. यह नेताजी की देन है, जिसे रक्षा मंत्री रहते उन्होंने शुरू किया था."

जब शिवपाल ने छुए रामगोपाल के पैर

मंगलवार को सैफई महोत्सव के पंडाल में मुलायम की जयंती का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा था. पंडाल में राम गोपाल यादव पहले से बैठे हुए थे. इस दौरान मौके पर जब शिवपाल आए, तो उन्होंने सबसे पहले अपने बड़े भाई राम गोपाल यादव के पैर छुकर उनका आशीर्वाद लिया. इस घटनाक्रम का वीडियो काफी चर्चा में है.

पिता मुलायम को याद कर अखिलेश बोले- आज पहली बार नेताजी के जन्मदिन को उनके बिना मना रहे हैं
'सुघर के बेटे ने जाटव का पानी पीया', छुआछूत को पटकने वाले 'पहलवान' मुलायम के सियासी किस्से

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in