इटावा: नहर में गिरी कार तो जान की परवाह किए बिना कूद गए पुलिस के ये जवान, बन गए 'देवदूत'

UP Accident News: यूपी पुलिस के दो पोलिसकर्मियों ने नहर में गिरी कार में सवार लोगों की बचाई जान
इटावा: नहर में गिरी कार तो जान की परवाह किए बिना कूद गए पुलिस के ये जवान, बन गए 'देवदूत'
फोटो: अमित तिवारी

Etawah News Hindi: आज जो हम आपको बताने जा रहे हैं उसे जानकर आपको पुलिस की वर्दी देख डर नहीं बल्कि भरोसे का एहसास होगा. उत्तर प्रदेश के इटावा से पुलिस का मानवीय चेहरा सामने आया है. दरसल इटावा जनपद के थाना भरथना क्षेत्र के अंतर्गत एक ऐसी घटना हुई जिसमें पुलिसकर्मियों ने अपनी जान पर खेलते हुए जिंदगी को बचा लिया.

ये है मामला

दरअसल एक कार नहर में गिर गई थी. जैसे ही यह बात पुलिसकर्मियों को पता चली, उन्होंने अपनी जान पर खेलते हुए कार सवार लोगों को बचा लिया. पुलिसकर्मियों ने साहस दिखाते हुए नहर में गिरी कार और ड्राइवर को बचा लिया. मिली जानकारी के मुताबिक, इस दौरान करीब 100 मीटर तक पुलिसकर्मी भी नहर में तैरते रहे और ड्राइवर को बचा लिया.

जान की परवाह किए बगैर राहत कार्य में जुट गए

मिली जानकारी के मुताबिक, यह घटना भरथना क्षेत्र के अंतर्गत बीते रविवार करीब शाम 7 बजे तुरैया नहर पुल से सामने आई है. यहां दो पुलिसकर्मी जिनके नाम गजेंद्र और अजीत सिंह हैं, गश्त कर रहे थे. दोनों ही हेड कांस्टेबल के पद पर नियुक्त हैं. उसी समय तेज गति से फर्रुखाबाद की तरफ से एक कार गुजरी और अनियंत्रित होकर नहर के अंदर जा गिरी.

यूपी समाचार: आनन-फानन में ड्यूटी पर तैनात दोनों पुलिसकर्मी अपनी जान की परवाह न किए बगैर राहत कार्य में जुट गए और नहर में कूद गए. उन्होंने साहस दिखाते हुए कार के अंदर बैठे ड्राइवर को मफलर और रस्सी के इस्तेमाल से बाहर निकाला. बताया जा रहा है कि इस घटना में कार भी करीब 100 मीटर तक बहती रही और कार से साथ पुलिसकर्मी भी तैरते रहे. मगर ड्राइवर को सुरक्षित बाहर निकालने में कामयाब रहे.

26 जनवरी को किया जाएगा सम्मानित

UP News Hindi: इस घटना के सामने आने के बाद जनपद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने दोनों पुलिसकर्मियों को आने वाली 26 जनवरी को सम्मानित करने और पुरस्कृत करने की घोषणा की है.

इस पूरे मामले पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजय कुमार वर्मा ने बताया, “बीती शाम भरथना क्षेत्र के अंतर्गत एक कार नहर में गिर गई.  वहां पर हमारे दो हेड कांस्टेबल गश्त पर थे. गजेंद्र सिंह और अजीत सिंह, दोनों पुलिसकर्मियों ने अपने साहस कार्य का परिचय देते हुए ड्राइवर को बाहर निकाला. हमारे पुलिसकर्मियों ने साहस से ड्राइवर को पानी में बहने से बताया. मैं यह कहना चाहता हूं कि पुलिस का यह एक अच्छा चेहरा सामने आया है. यह प्रशंसा की बात है. इन दोनों पुलिसकर्मियों को 26 जनवरी को सम्मानित किया जाएगा”

इटावा: नहर में गिरी कार तो जान की परवाह किए बिना कूद गए पुलिस के ये जवान, बन गए 'देवदूत'
इटावा: बाइक रेलिंग से टकराई, उछले दोनों बाइक सवार नीचे रेलवे ट्रैक पर जा गिरे, मौत

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in