कानपुर हिंसा मामले में 5 और गिरफ्तार, जांच में सामने आया PFI का ये कनेक्शन

कानपुर हिंसा मामले में 5 और गिरफ्तार, जांच में सामने आया PFI का ये कनेक्शन
फोटो: यूपी तक

कानपुर हिंसा मामले में पुलिस ने रविवार को पांच और लोगों को गिरफ्तार किया है. अब गिरफ्तार होने वालों की कुल संख्या 29 हो गई है. मामले में पथराव करने वालों के साथ-साथ साजिशकर्ता भी गिरफ्तार किए गए हैं. मुख्य आरोपी जफर हयात हाशमी के ठिकानों से तलाशी के दौरान एसडीपीआई सीएफआई से जुड़े दस्तावेज भी मिले हैं. इसके साथ ही पीएफआई ने मणिपुर और वेस्ट बंगाल में बंद का कॉल किया था. उसी दिन यहां भी बंद किया गया.

अहम बिंदु

कानपुर मामले में पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा यूपी तक से बातचीत में कहा कि आरोपियों के पास से बरामद 6 मोबाइल को खंगाला जा रहा है. आरोपियों के सोशल मीडिया अकाउंट भी खंगाले जा रहे हैं. सीसीटीवी फुटेज की मदद से उपद्रवियों को चिन्हित करने का काम किया जा रहा है. पुलिस कमिश्नर का कहना है कि हमारे पास सभी नाम आ गए हैं. कुछ दिनों में बाकी की गिरफ्तारियां भी हो जाएंगी.

पीएफआई के इस कनेक्शन को खंगाला जा रहा

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि अभी तक की जांच में ये बात सामने आई है कि चिन्हित किए गए लोगों ने शहर का माहौल खराब करने की कोशिश की थी. पीएफआई ने मणिपुर और वेस्ट बंगाल में बंद का कॉल किया था. उसी दिन यहां भी बंद किया गया. इसी कनेक्शन को खंगाला जा रहा है.

अहम बिंदु

आरोपियों की प्रॉपर्टी होगी जब्त

इनपर गैंगस्टर एक्ट लगाया जाएगा. इनकी प्रॉपर्टी जब्त की जाएगी. इनपर कार्रवाई से ये संदेश दिया जाएगा कि ऐसी हरकत किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी. पुलिस कमिश्नर मीणा ने कहा कि पूरी तरह से साइंटिफिक आधार पर सबूत इकट्‌ठा करके ही कार्रवाई की जाएगी. यदि कहीं पुलिस फोर्स की कमी पाई जाएगी तो उनकी भी जिम्मेदारी तय की जाएगी.

बाजार खुले, पुलिस कर रही पेट्रोलिंग

रविवार को बाजार खुल गए हैं और पुलिस लगातार पेट्रोलिंग कर रही है. पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीणा ने कहा कि हमें 12 कंपनी पीएस और 3 कंपनी सीआरपीएफ की एक्स्ट्रा फोर्स मिली है.

कानपुर हिंसा के मुख्य साजिशकर्ता हयात जफर हाशमी समेत चार लोगों को कानपुर क्राइम ब्रांच ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है. अब तक कानपुर में हुए उपद्रव के ममाले में 29 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. 36 की शिनाख्त हो चुकी है जिनकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. इस पूरे प्रकरण में 3 एफआईआर दर्ज हुई है.

हिंसा के बाद आरोपियों ने छोड़ दिया था शहर

कानपुर पुलिस कमिश्नर ने कहा कि पकड़े गए सभी चारों आरोपियों ने हिंसा के बाद शहर छोड़ दिया था. पकड़ा गया जफर हयात एमएम जोहर फैन क्लब का अध्यक्ष और इसके कहने पर ही लोग इकट्ठा हुए और जिसकी वजह से कानपुर में उपद्रव हुआ. ये भी देखा जा रहा है इन आरोपियों को फंडिंग कहां से हो रही थी. इनके बैंक डिटेल खंगाले जा रहे हैं. इनके मोबाइल जब्त कर कॉल डिटेल्स खंगाली जा रही है.

गौरतलब है कि एक भाजपा नेता द्वारा पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित ‘अपमानजनक’ टिप्पणियों के विरोध में शुक्रवार को कानपुर नगर में जुमे की नमाज के बाद दुकानें बंद कराने के प्रयास के दौरान दो समुदायों के लोगों द्वारा एक-दूसरे पर पथराव और बम फेंके जाने के बाद वहां कुछ इलाकों में हिंसा हुई.

कानपुर हिंसा मामले में 5 और गिरफ्तार, जांच में सामने आया PFI का ये कनेक्शन
कानपुर हिंसा का CCTV फुटेज आया सामने, देखिए उपद्रवियों ने पत्थर-बम से कैसे मचाया 'तांडव'

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in