कानपुर: ऑनलाइन गेम में पैसे हारने पर छात्र ने रची खुद के अपहरण की साजिश, पुलिस के उड़े होश

कानपुर: ऑनलाइन गेम में पैसे हारने पर छात्र ने रची खुद के अपहरण की साजिश, पुलिस के उड़े होश
पुलिस हिरासत में आरोपी छात्र. फोटो: सूरज सिंह, यूपी तक

उत्तर प्रदेश के कानपुर में ऑनलाइन गेम में कॉलेज फीस का पैसा हारने पर बीएससी के छात्र ने खुद के अपहरण की झूठी कहानी रच डाली. छात्र ने परिजनों को खुद के किडनैप होने की जानकारी देकर उनसे एक लाख रुपए की फिरौती मांगी. परिजन ने बेटे के अपहरण की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस ने सर्विलांस की मदद से 24 घंटे के अंदर छात्र को ढूंढ निकाला. इधर पुलिस ने जब पूछताछ की तो छात्र ने खुद के अपहरण की झूठी का खुलासा कर दिया.

अहम बिंदु

मामला कानपुर देहात के मंगलपुर जैतीपुर गांव का है, जहां गांव में रहने वाले किसान मुन्नू रैदास का बेटा शिवशंकर एक कालेज में बीएससी फर्स्ट ईयर की पढ़ाई कर रहा है. परिजन ने 30 हजार रुपए उधार लेकर उसकी पढ़ाई के लिए फीस दिए थे. जिसमे उसे कोचिंग की फीस कापी -किताबे खरीदना था. घर वालों से पढ़ाई के लिए मिले इस रुपए को शिवशंकर ऑनलाइन गेम में हार चुका था. अब जब उसे अपनी पढ़ाई के लिऐ फीस देने की जरूरत पड़ी तो उसके पास पैसे नहीं थे. तभी उसने अपने अपहारण की झूठी कहानी रच डाली.

आरोपी छात्र ने परिजनों को फोनकर कहा कि उसका अपहरण हो गया है. अपहरणकर्ता एक लाख रुपए मांग रहे हैं. पैसा दे दो नहीं तो यह लोग मुझे जान से मार देंगे. दोबारा उसने अपने परिजन को फोनकर कहा कि उसे सिर्फ अब 12 हजार रुपए दे दो. 88 हजार का इंतजाम कर दे दिया है. वो अभी रुरा क्षेत्र में हैं. पैसे दे देंगे तो वो सही सलामत घर आ जाएगा. तभी छात्र शिवशंकर के पिता मुन्नू ने परेशान होकर यह पूरा वाकया मंगलपुर थाने में तहरीर देते हुए पुलिस को बताया. रूरा पुलिस ने सर्विलांस की मदद से छात्र को ढूंढ निकाला. पुलिस की पूछताछ में छात्र ने पूरी सब कुछ सच सच बयां कर दी.

पुलिस गिरफ्त में आने के बाद छात्र शिवशंकर ने बताया कि उसको घर से मिले फीस के पैसे में से 12 हजार रुपए ऑनलाइन गेम में हार गया था. जब उसे पैसे की जरूरत पड़ी तो उसने यह झूठी कहानी रच डाली. एसपी स्वप्निल ममगाई ने बताया छात्र ने खुद के अपहरण की जानकरी दी थी. रूरा पुलिस और अकबरपुर सीओ ने छात्र को बरामद कर लिया है.झूठी सूचना की जानकरी पर जेल भेज दिया है. और जांच की जा रही है.

दर्शकों से मिले बेशुमार प्यार की ताकत ही है कि इंडिया टुडे ग्रुप के Tak परिवार के सदस्य यूपी तक ने YouTube पर 60 लाख सबस्क्रिप्शन का आंकड़ा पार कर लिया है. हमें और बेहतर बनने के लिए सिर्फ 60 शब्दों में आपके बेशकीमती सुझावों की जरूरत है. सुझाव देने वाले चुनिंदा लोगों को हमारी तरफ से आकर्षक पुरस्कार दिए जाएंगे. यहां नीचे शेयर की गई खबर पर क्लिक कर बताए गए तरीके से अपने सुझाव हमें भेजें और इनाम पाएं.
पुलिस हिरासत में आरोपी छात्र.
YouTube पर UP Tak परिवार 60 लाख पार, हम और बेहतर कैसे बनें? 60 शब्दों में बताइए, इनाम पाइए
पुलिस हिरासत में आरोपी छात्र.
मथुरा: किशोरी ने फेसबुक पर नहीं की दोस्ती, कार्ड देने के बहाने घर आया, चाकू से मार डाला

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in