लखीमपुर खीरी पर बोलीं प्रियंका- ‘जब तक गृह राज्य मंत्री का इस्तीफा नहीं, हम लड़ते रहेंगे’

ADVERTISEMENT

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने 10 अक्टूबर को वाराणसी में पार्टी की ‘किसान न्याय रैली’ को संबोधित किया. इस रैली में कांग्रेस के यूपी अध्यक्ष…
social share
google news

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने 10 अक्टूबर को वाराणसी में पार्टी की ‘किसान न्याय रैली’ को संबोधित किया. इस रैली में कांग्रेस के यूपी अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और आगामी उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए पार्टी के वरिष्ठ पर्यवेक्षक भूपेश बघेल भी मौजूद रहे.

इस दौरान प्रियंका ने कहा, ”लखीमपुर खीरी में जो हुआ, पिछले हफ्ते से हम देख रहे हैं, इस देश के गृह राज्य मंत्री के बेटे ने अपनी गाड़ी के नीचे किसानों को निर्ममता से कुचल दिया.”

प्रियंका ने कहा कि किसानों के परिवार कहते हैं कि ”हमें पैसे नहीं चाहिए, हमें मुआवजा नहीं चाहिए, हमें न्याय चाहिए, लेकिन हमें सरकार में न्याय दिलवाने वाला नहीं दिख रहा है.”

ADVERTISEMENT

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ”आपने देखा कि सरकार पूरी तरह से उस मंत्री और उस मंत्री के बेटे को बचाने में लगी रही. पुलिस और प्रशासन विपक्ष के नेताओं को रोकने में लगा था. जब मैंने रात में वहां जाने की कोशिश की, तब हर सड़क पर पुलिस थी…लेकिन अपराधी को पकड़ने के लिए एक भी पुलिसवाला नहीं निकला.”

प्रियंका गांधी ने कहा,

ADVERTISEMENT

  • ”अगर हमारे देश में कोई कुचला जाता है, किसी के प्रति हिंसा होती है, किसी पर अत्याचार होता है और उसको न्याय मिलने की उम्मीद नहीं होती, तो किसके पास जाएगा, अगर सरकार, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री, गृह राज्य मंत्री, विधायक सभी मिले हुए हैं, सभी अपनी पीठ मोड़ देते हैं उनकी तरफ तो किसके पास जाए जनता और क्या करे?”

  • ”आप जानते हैं कि किसानों ने 9-10 महीनों से एक आंदोलन जारी रखा है. 300 दिन से अधिक ये आंदोलन चला है. इसमें 600 से अधिक किसान शहीद हुए हैं. क्यों कर रहे हैं ये आंदोलन? ये आंदोलन इसलिए कर रहे हैं क्योंकि ये जानते हैं कि सरकार के जो 3 कानून हैं, उनके जरिए उनकी आमदनी, उनके खेत, उनकी फसल सब इस सरकार के खरबपति मित्रों के पास जाने वाले हैं, उनके कब्जे में होने वाले हैं.”

  • इसके अलावा उन्होंने कहा,

    ”इस देश में सिर्फ दो तरह के लोग सुरक्षित हैं आज, एक जो बीजेपी का सत्ताधारी नेता है वो, और दूसरा जो उसका खरबपति मित्र है. इस देश में किसी धर्म का, किसी जाति का व्यक्ति सुरक्षित नहीं है. इस देश में न मजदूर सुरक्षित है, न मल्लाह सुरक्षित है, न निषाद सुरक्षित है, न दलित सुरक्षित है, न गरीब सुरक्षित है, न अल्पसंख्यक सुरक्षित है, न मेरी महिला बहनें सुरक्षित हैं.”

    प्रियंका गांधी

    प्रियंका ने कहा, ”आप किसान हो, इस देश की आत्मा हो…आपकी मेहनत ने बनाया है इस देश को, ये कभी मत भूलिए. जो आपको आंदोलनकारी कहते हैं, जो आपको आतंकवादी कहते हैं, उनको न्याय देने के लिए मजबूर करिए.”

    उन्होंने कहा, ”कांग्रेस के जितने भी कार्यकर्ता यहां हैं, किसी से नहीं डरते हैं. हमें जेल में डालिए, हमें मारिए, हमारे साथ कुछ भी कर लीजिए, हम लड़ते रहेंगे, जब तक वो गृह राज्य मंत्री आपका इस्तीफा नहीं देगा, तब तक हम लड़ते रहेंगे, हम हिलेंगे नहीं, हम हटेंगे नहीं.”

    ‘किसान न्याय रैली’ के लिए वाराणसी पहुंचीं प्रियंका, विश्वनाथ मंदिर में की पूजा-अर्चना

      follow whatsapp

      ADVERTISEMENT