Kanwar Yatra : आज से सावन महीने की शुरुआत, कांवड़ यात्रा शुरू, सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीरPhoto: Qamar Sibtain/Mail Today.

सावन महीने की शुरुआत होते ही उत्तर प्रदेश में आज से कांवड़ यात्रा (kanwar yatra) भी प्रारंभ हो चुकी है. तमाम श्रद्धालु गंगाजल लेकर आज पास के प्रतिष्ठित शिवालयों पर करने पैदल ही निकलते हैं. ऐसे में कांवड़ यात्रा को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस ने विशेष इंतजाम किया है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश से लेकर पूर्वांचल के तमाम जिलों में सुरक्षा को लेकर विशेष सावधानी बरतनी के निर्देश जारी किए गए हैं.

उत्तर प्रदेश पुलिस के चीफ डीएस चौहान और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी गुरुवार को मेरठ जोन के दौरे पर थे. दोनों अफसरों ने मेरठ जोन और जिला प्रशासन के अफसरों के साथ उन रास्तों का दौरा किया जहां से कावड़ यात्री गुजरेंगे.

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रखने के लिए डीजीपी और अवनीश अवस्थी ने मेरठ जोन का दौरा करने के बाद यूपी पुलिस को कांवड़ यात्रा के मद्देनजर कुछ विशेष निर्देश जारी किए हैं.

मेरठ और वाराणसी जोन को अतिरिक्त पुलिस बल दिया गया है. पूरे प्रदेश में 151 कंपनी पीएसी और 11 कंपनी केंद्रीय पुलिस बल तैनात रहेगा. मेरठ और वाराणसी कमिश्नरेट के लिए अतिरिक्त पुलिस बल के साथ 13 एडिशनल एसपी, 30 डिप्टी एसपी, 309 इंस्पेक्टर/ सब इंस्पेक्टर, 1250 कॉन्स्टेबल /हेड कॉन्स्टेबल और 132 ट्रैफिक पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे.

अहम बिंदु

एटीएस और एंटी सैबोटाज टीम के साथ बम निरोधक दस्ता तैनात किया गया है. पूरे प्रदेश में 12356 किलोमीटर लंबे 840 कांवड़ मार्ग चिन्हित किए गए हैं. 4556 शिवालय हैं, जहां जल अभिषेक किया जाएगा. 314 स्थानों पर सावन के मौके पर लगने वाले मेले के लिए भी सुरक्षा चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिए गए हैं. प्रदेश भर में 927 संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर सुरक्षा व्यवस्था के विशेष इंतजाम किए जाएंगे.

1917 सेक्टर में 1195 पुलिस की क्विक रिस्पांस टीम (क्यूआरटी) तैनात रहेंगी. कांवड़ यात्रा मार्ग के आसपास शराब और मीट की दुकानों, मीट के परिवहन और मृत जानवरों के लाने ले जाने पर प्रतिबंध रहेगा. अराजक तत्वों पर नजर रखने के लिए यातायात कर्मियों को ब्रेथ एनालाइजर दिया जाएगा, ताकि वे नशे में गाड़ी चलाने वालों को चिन्हित कर सकें.

सांकेतिक तस्वीर
यूपी: कांवड़ यात्रा में निश्चित वॉल्यूम पर ही बजेगा डीजे, फिल्मी गाने नहीं बजा सकेंगे भक्त

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in