window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

बृजभूषण शरण सिंह पर दर्ज होगी FIR, सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली पुलिस ने दिया ये भरोसा

संजय शर्मा

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Uttar Pradesh News: उत्तर प्रदेश के कैसरगंज लोकसभ क्षेत्र से सांसद और भारतीय कुश्ती महासंघ के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. बृजभूषण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों में FIR दर्ज कराने की मांग को लेकर दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज करने का भरोसा दिया.

SC में दिल्ली पुलिस ने दिया ये भरोसा

मुख्य न्यायाधीश जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जस्टिस पी एस नरसिम्हा की पीठ के समक्ष SG तुषार मेहता ने कहा कि दिल्ली पुलिस आज ही एफआईआर दर्ज करेगी. कोर्ट ने कहा की इस भरोसे के बावजूद सुनवाई जारी रहेगी. अगली सुनवाई आठ दिन बाद शुक्रवार को होगी. महिला पहलवानों की शिकायत पर बृज भूषण के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने आज ही एफआईआर दर्ज करने और याचिकाकर्ता पीड़ित महिला पहलवानों को समुचित सुरक्षा मुहैया कराने का भरोसा दिया है.

पहलवानों की सुरक्षा की मांग

याचिकाकर्ताओं के वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि शिकायतकर्ता महिला पहलवानों को सुरक्षा दी जाए. गोंडा से सांसद बृजभूषण शरण सिंह के ख़िलाफ़ फिलहाल पहले से ही 40 मुकदमे दर्ज हैं. कपिल सिब्बल ने कहा कि बृजभूषण शरण सिंह पर दर्ज 40 मुकदमों में हत्या का मामला भी है. लिहाजा महिला पहलवानों के इस मामले की जांच SIT से कराई जाए. इसकी निगरानी हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज करें. डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि, ‘वो दिल्ली पुलिस के वकील के बयान को रिकॉर्ड पर रख रहे है कि मामले में आज ही एफआईआर दर्ज होगी.’

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

SG तुषार मेहता ने कहा कि, ‘जिस तरह का घटनाक्रम है, ऐसा लग रहा है कि कुछ और भी पीछे है. हालांकि ये बेहद गंभीर मामला है. इसलिए अभी कुछ नही कहेंगे. 156 (3) के विकल्प भी है.’ कपिल सिब्बल ने कहा कि ये 2016 की जनवरी में मौखिक शिकायत से चला आ रहा है. लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई. सात साल कार्रवाई का इन्तजार करने के बाद जनवरी 2023 में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई. कमेटी बनाई गई लेकिन कमेटी को सब कुछ नहीं दिखाई दिया. मंत्रालय से उम्मीद थी लेकिन वहां से भी कुछ नहीं हुआ. इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन ने भी कुछ नहीं किया.

शुक्रवार को होगी अगली सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि अगले शुक्रवार को होने वाली सुनवाई में पुलिस कार्रवाई की समीक्षा करेंगे. कोर्ट ने कहा कि हम दिल्ली पुलिस कमिश्नर को सुरक्षा देने को कह रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नाबालिग शिकायतकर्ता की सुरक्षा को लेकर कमिश्नर को कहा है कि वो धमकी पर संज्ञान लेकर जांच करें और समुचित सुरक्षा प्रदान करें.सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि फिलहाल वो मामले की सुनवाई बंद नहीं करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगले शुक्रवार को इस मामले की सुनवाई होगी.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT