सुपरटेक ट्विन टावर केस: CM योगी ने दिखाई सख्ती तो नोएडा अथॉरिटी ने तेज की जांच

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

नोएडा के सुपरटेक ट्विन टावर मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोषी अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

जानकारी के मुताबिक, सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि शासन स्तर से विशेष जांच समिति गठित कर मामले की गहन जांच कराई जाए. एक-एक दोषी अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. जरूरत पड़ने पर दोषी अधिकारी के खिलाफ आपराधिक केस भी दर्ज किया जाए.

नोएडा विकास प्राधिकरण की सीईओ ने गठित की टीम

वहीं, इस मामले में नोएडा विकास प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने एक टीम का गठन कर दिया है. दो एसीईओ की अध्यक्षता में इस टीम का गठन हुआ है. जानकारी के अनुसार प्लानिंग विभाग के अधिकारी रडार पर हैं. कई पूर्व अधिकारियों का भी रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है. बताया जा रहा है कि रिपोर्ट आने के बाद सख्त कार्रवाई होगी.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

क्या है पूरा मामला

बता दें कि 31 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने सुपरटेक बिल्डर को नोएडा सेक्टर 93 में बनाए गए सुपरटेक एमराल्ड 40 मंजिला ट्विन टावर को ध्वस्त करने का आदेश दिया है. कोर्ट ने दोनों टावर को अगले 3 महीने के अंदर ध्वस्त करने का आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में नोएडा अथॉरिटी पर भी सख्त टिप्पणी की थी. कोर्ट ने आदेश में कहा था कि नोएडा प्राधिकरण ने बिल्डर की मनमानी में सहयोग दिया है. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद सीएम योगी ने सख्ती दिखानी शुरू कर दी है.

ADVERTISEMENT

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को विस्तार से यहां पढ़ें-

सुप्रीम कोर्ट से सुपरटेक को बड़ा झटका, 40 मंजिला ट्विन टावर को ध्वस्त करने का आदेश

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT