window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

यूपी में एक बीघा में कितना स्क्वायर फीट होता है? दूसरे राज्यों से कितना है फर्क, पूरा हिसाब जानिए

यूपी तक

ADVERTISEMENT

 Square Feet to bigha converter, how to convert Square Feet to bigha, how to convert Square Feet to bigha, ekad se beegha kaise nikalen, uttar pradesh, punjab, bengal, UP News
Square Feet to bigha converter, how to convert Square Feet to bigha, how to convert Square Feet to bigha, ekad se beegha kaise nikalen, uttar pradesh, punjab, bengal, UP News
social share
google news

UP News : भारत में बड़ी आबादी शहर में रहता है. वहीं शहरी लोगों में स्क्वायर फीट का क्रेज कुछ ज्यादा ही देखने को मिलता है. अगर आप स्क्वायर फीट शब्द से अनजान हैं, तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह जमीन नापने का एक लोकप्रिया पैमाना है.  स्क्वायर फीट का इस्तेमाल खासकर देश के शहरी क्षेत्रों में जैसे दिल्ली, नोएडा, मुंबई, बेंगलुरु, लखनऊ में बहुतायत मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है. जमीन की नाप लेने की तमाम इकाई होती हैं.  स्क्वायर फीट के अलावा एकड़,बीघा, हेक्टेयर, गज, स्कॉवयर मीटर जैसी तमाम इकाइयों में जमीन को नापा जाता है. स्क्वायर फीट भारत में जमीन मापन की छोटी इकाई है.

स्क्वायर फीट क्या होता है और क्या स्क्वायर फीट हर जगह बराबर होता है? 

जैसा कि हम आपको ऊपर ही बता चुके हैं कि लंबे समय से भारत के हिंदी भाषी प्रदेशों में जमीन नापने के लिए स्क्वायर फीट के मापन का इस्तेमाल होता है. अब सवाल यह खड़ा होता है कि क्या हर प्रदेश में स्क्वायर फीट एक समान होता है? इसका जवाब है ना. एक स्क्वायर फीट में आने वाला जमीन का टुकड़ा हर प्रदेश में अलग-अलग होता है. 


एक बीघे में कितना स्क्वायर फीट आता है? 

स्क्वायर फीट की परिभाषा में क्षेत्रीय अंतर के कारण पूरे भारत में स्क्वायर फीट और बीघे के बीच रूपांतरण में काफी भिन्नता है. उत्तर प्रदेश (यूपी) में एक बीघे में करीब 27000 स्क्वायर फीट होता है. हालांकि यह पूरे राज्य के लिए भी एकरूप यानी बराबर नहीं है. राज्य के कुछ हिस्सों में इसमें थोड़ी कमी या बढ़ोतरी भी देखने को मिल सकती है. स्क्वायर फीट की माप पूरे भारत में ही एक समान नहीं है. उदाहरण के लिए आप नीचे दिए राज्यों के हिसाब से देख सकते हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

  • पश्चिम बंगाल में एक बीघा में लगभग 14400 स्क्वायर फीट के बराबर होता है.
  • पंजाब और हरियाणा में एक बीघे लगभग 10890 स्क्वायर फीट के बराबर होता है. 
  • राजस्थान में एक बीघे में करीब 27225 स्क्वायर फीट तक हो सकता है. 
  • मध्य प्रदेश में एक बीघे में करीब 12000 स्क्वायर फीट तक होता है.
  • बिहार में एक बीघे में करीब 27220 स्क्वायर फीट तक होता है.

ये फर्क इसलिए देखने को मिलता है क्योंकि स्क्वायर फीट जमीन मापने की एक पारंपरिक इकाई है. मॉर्डन मापकों से आने के पहले से इसका इस्तेमाल होता रहा है. हर इलाके में एक स्क्वायर फीट की परिभाषा शहर में जमीन लेने और घर बनाने या घर खरीद में में इसका इस्तेमाल होता है.

अब जानिए कहां से आया स्क्वायर फीट? 

जमीन मापने की इकाई के रूप में स्क्वायर फीट का इस्तेमाल मध्ययुगीन अमेरिका में हुआ. इसका इस्तेमाल ज्यादातर रियल स्टेट में होता है. इसको अंतरराष्ट्रीय स्तर पर, विशेष रूप से अमेरिका, कनाडा और भारत के कुछ हिस्सों में शहर में घर और रियल स्टेट से जुड़े योजनाओं के लिए किया जाता है. 

ADVERTISEMENT


बीघे को स्क्वायर फीट में ऑनलाइन कैसे कन्वर्ट करें? 

अगर आप बीघे को स्क्वायर फीट में कन्वर्ट करना चाहते हैं, तो ये कोई मुश्किल काम नहीं है. आप ऑनलाइन सर्च करेंगे तो तमाम वेबसाइट्स है, जो इसका ऑनलाइन कन्वर्टर उपलब्ध कराती हैं. ऐसी ही एक वेबसाइट है हाउसिंग डॉट कॉम. इस लिंक पर विजिट करके आप सिर्फ यूपी ही नहीं अलग-अलग राज्यों के हिसाब से भी कन्वर्टर का इस्तेमाल कर सकते हैं.
 

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT