ताबड़तोड़ चली गोलियां, नीचे गिरे अतीक-अशरफ, प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया आंखों देखा हाल

आनंद राज

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

माफिया और डॉन अतीक अहमद की पुलिस अभिरक्षा में हत्या कर दी गई. अतीक के साथ उसके भाई अशरफ को भी गोलियां से भून दिया गया. जब तक कोई कुछ समझ पाता तब तक अतीक और अशरफ की मौत हो चुकी थी. इस हत्याकांड ने पूरे उत्तर प्रदेश को हिला कर रख दिया है. जमकर सियासत हो रही है.

5 बार का विधायक और एक बार सांसद बना अतीक अहमद यूपी में जाना पहचाना नाम था. अतीक और अशरफ को पुलिस अभिरक्षा के बीच गोली कैसे मारी गई? आखिर ऐसा क्या हुआ कि पुलिस भी अतीक और अशरफ को बचा नहीं पाई? ये सब कैसे हुआ? ये सवाल हर किसी के मन में है. अब हम आपको प्रत्यक्षदर्शियों की आंखों देखी बताएंगे कि आखिर कैसे बाहुबली अतीक और अशरफ की हत्या की गई. जब ये कांड हुआ तब आखिर पुलिसकर्मी क्या कर रहे थे?

कैसा था हत्या के वक्त का मंजर

वहां मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हमलावर गाड़ी में आए थे. उनके गले में प्रेस का कार्ड था. प्रत्यक्षदर्शियों ने दावा करते हुए बताया कि अतीक और अशरफ के साथ पुलिस मौजूद थी. जब अतीक और अशरफ पर हमला किया गया, उस दौरान पुलिसकर्मियों ने अतीक और अशरफ को चारों तरफ से घेर रखा था. इस दौरान हमलावरों ने करीब 7 राउड गोली चलाई हैं.

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

‘पुलिस वाले भाग गए’

वहां मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी ने आंखों देखी बताया कि जब हमलावर ने अतीक और अशरफ को गोलियां से भून दिया और दोनों नीचे गिर गए तो पुलिस वाले वहां से भाग गए. इस दौरान हमलावर नारे लगाते हुए दोनों पर गोलियां बरसाते रहे.

‘हमलावरों को गाड़ी में बैठा कर ले गए’

घटना स्थल पर मौजूद एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि जब हमला हो गया और अतीक-अशरफ नीचे गिए गए तो पुलिसकर्मियों ने हमलावरों को पकड़ लिया और उन्हें फौरन गाड़ी में बैठाकर कही ले गए. इस दौरान लोगों ने पुलिस पर गंभीर आरोप भी लगाए हैं.

ADVERTISEMENT

कैसे हुए अतीक और अशरफ की हत्या

बता दें कि पुलिस की टीमें अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ को मेडिकल के लिए अस्पताल लेकर जा रही थी.ये घटना मेडिकल कॉलेज के पास हुई है. जिस वक्त ये हमला हुआ उस वक्त दोनों को जांच के लिए ले जाया जा रहा था. पुलिस अभिरक्षा में ही अतीक और अशरफ पर हमला हो गया. मौके पर ही दोनों की मौत हो गई. बता दें कि गुरूवार को ही अतीक के बेटे असद को पुलिस ने एनकाउंटर ढेर किया था. बेटे के एनकाउंटर के 48 घंटे के अंदर ही अतीक की हत्या हो गई.

ADVERTISEMENT

    Main news
    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT