window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

उमेश पाल हत्याकांड: पत्नी ने अतीक के परिवार के खिलाफ कराई FIR, पुलिस ने बाहुबली के दोनों बेटों को उठाया

पंकज श्रीवास्तव

ADVERTISEMENT

अतीक के बहन-बहनोई के बाद अब भांजा भी फंसा, कोर्ट ने दिया बड़ा झटका, जानें इसकी क्राइम कुंडली
अतीक के बहन-बहनोई के बाद अब भांजा भी फंसा, कोर्ट ने दिया बड़ा झटका, जानें इसकी क्राइम कुंडली
social share
google news

बसपा विधायक राजू पाल हत्याकांड के मुख्य गवाह उमेश पाल की भी हत्या कर दी गई है. बदमाशों ने घर के पास गोली और बम चलाकर उमेश पाल को मार डाला और आराम से फरार हो गए. अब इस मामले में उमेश पाल की पत्नी की तरफ से बाहुबली अतीक अहमद के परिवार के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है. उमेश पाल की पत्नी जया पाल ने प्रयागराज के धूमनगंज थाने में FIR कराई है.

इस FIR में पूर्व सांसद अतीक अहमद, उनकी पत्नी शाइस्ता परवीन, उनके भाई, दोनों बेटों समेत अन्य को आरोपी बनाया गया है. उमेश पाल की पत्नी ने दावा किया है कि सारा मंजर उन्होंने सीसीटीवी में अपनी आंखों से देखा. अगर आरोपी उनके सामने आएंगे तो वह उन्हें पहचान लेंगी.

उधर, पुलिस ने शुरू किया अपना ऐक्शन, अतीक के बेटों को उठाया

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

उमेश पाल और उनके गनर की सनसनीखेज हत्या के मामले में पुलिस ने भी ऐक्शन शुरू कर दिया है. पुलिस ने अतीक अहमद के दोनों बेटे एहजम और आबान के साथ करीब 14 संदिग्धों को हिरासत में लिया है. कौशांबी और प्रतापगढ़ में प्रॉपर्टी डीलिंग के विवाद से जुड़े चार लड़कों को भी हिरासत में लिया गया है. सभी से पूछताछ की जा रही है. जॉइंट सीपी की अगुवाई में 10 टीमें हत्याकांड को अंजाम देने वाले आरोपियों की तलाश में लगाई गई हैं.

पहले राजू पाल फिर उमेश पाल का मर्डर, क्या है अतीक अहमद से कनेक्शन, यहां समझिए

ADVERTISEMENT

25 जनवरी 2005 को बसपा विधायक राजू पाल की हत्या सरेराह कर दी गई थी. उमेश पाल उस हत्याकांड के चश्मदीद गवाह थे. साल 2007 में उमेश का अपहरण कर लिया गया था. राजू पाल हत्याकांड में गवाही देने के लिए उन्हें धमकाया गया था. इस मामले में तब उमेश पाल की ओर से धूमनगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई थी. बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद उनके छोटे भाई पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ समेत कई अन्य को आरोपी बनाया गया था. इसी मामले की प्रयागराज की एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट में सुनवाई चल रही है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एमपी एमएलए स्पेशल कोर्ट को आदेश दिया था कि 2 महीने में ट्रायल पूरा करें. उमेश पाल शुक्रवार को एमपी एमएलए कोर्ट में दोपहर 2:30 बजे पहुंचे थे. शाम पौने चार बजे तक मामले की सुनवाई चली थी.  उमेश पाल अपने साथ तैनात सुरक्षाकर्मियों के साथ अपने घर जाने के लिए निकले थे. धूमनगंज थाना क्षेत्र में घर के सामने ही कार से उतरते ही अज्ञात हमलावरों ने बम और असलहे से जानलेवा हमला कर दिया. इस हमले में उनकी और एक गनर की मौत हो गई. दूसरे गनर की हालत गंभीर है.

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT