window.googletag = window.googletag || { cmd: [] }; let pathArray = window.location.pathname.split('/'); function getCookieData(name) { var nameEQ = name + '='; var ca = document.cookie.split(';'); for (var i = 0; i < ca.length; i++) { var c = ca[i]; while (c.charAt(0) == ' ') c = c.substring(1, c.length); if (c.indexOf(nameEQ) == 0) return c.substring(nameEQ.length, c.length); } return null; } googletag.cmd.push(function() { if (window.screen.width >= 900) { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-1').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_728x90', [728, 90], 'div-gpt-ad-1702014298509-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Desktop_HP_MTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1702014298509-3').addService(googletag.pubads()); } else { googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_ATF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-0').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-1_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-2').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-2_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-3').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_MTF-3_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-4').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_BTF_300x250', [300, 250], 'div-gpt-ad-1659075693691-5').addService(googletag.pubads()); googletag.defineSlot('/1007232/UP_tak_Mobile_HP_Bottom_320x50', [320, 50], 'div-gpt-ad-1659075693691-6').addService(googletag.pubads()); } googletag.pubads().enableSingleRequest(); googletag.enableServices(); if (window.screen.width >= 900) { googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-1'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1702014298509-3'); } else { googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-0'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-2'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-3'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-4'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-5'); googletag.display('div-gpt-ad-1659075693691-6'); } });

बरेली में ₹5 हजार के लिए ये महिला लेखपाल अपने कैरियर से खेली, अब लंबा फंस गई, हुआ क्या?

कृष्ण गोपाल यादव

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

Bareilly News: लालच इंसान से क्या-क्या करवा लेता है, इसका एक नजारा उत्तर प्रदेश के बरेली में देखने को मिला. यहां एक महिला लेखपाल रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ी गई. महिला लेखपाल सिर्फ 5 हजार रुपये के लिए अपने कैरियर से खेल गई. महिला लेखपाल को रंगे हाथों किसान से रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है. 

महिला लेखपाल पर आरोप है कि उसने एक किसान के जमीन विवाद को निपटाने के लिए ये रिश्वत ली है. जैसे ही किसान महिला लेखपाल को रिश्वत देने के लिए पहुंचा, मौके पर एंटी करप्शन विभाग की टीम भी पहुंच गई और महिला लेखपाल को रंगे हाथों पकड़ लिया गया. पुलिस ने महिला लेखपाल के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. 

क्या है पूरा मामला

दरअसल ये पूरा मामला जमीन के दाखिल खारिज से जुड़ा है. मिली जानकारी के मुताबिक, इज्जत नगर थाना क्षेत्र के पुलिस गेट के पास रहने वाले निगम कुमार ने अपनी पत्नी कमला देवी के नाम से मकरंदपुर गांव में जमीन खरीदी थी. इसी मामले में दाखिल खारिज होना था. इसको लेकर निगम कुमार लगातार लेखपाल सीमा देवी के चक्कर काट रहे थे, लेकिन वह दाखिल खारिज करने से इनकार कर रही थी. 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

आरोप है कि महिला लेखपाल नए-नए नियमों का हवाला देकर किसान की फाइल रोक रही थी. आखिर में लेखपाल ने किसान के सामने रिश्वत की डिमांड कर दी. ये देख किसान ने मामले की जानकारी एंटी करप्शन विभाग को दे दी. किसान और एंटी करप्शन टीम ने मिलकर महिला लेखपाल को पकड़ने के लिए जाल बिछाया और रंगे हाथों रिश्वत लेते हुए महिला लेखपाल को पकड़ लिया गया.

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT