'राम भक्त और जिन्ना भक्त में कैसा समझौता?' अखिलेश के CM वाले ऑफर पर केशव ने खूब सुनाया

'राम भक्त और जिन्ना भक्त में कैसा समझौता?' अखिलेश के CM वाले ऑफर पर केशव ने खूब सुनाया
फोटो कोलाज: यूपी तक

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (keshav prasad maurya) ने कहा कि सपा के 100 से ज्यादा विधायक बीजेपी के संपर्क में है जिन्हें बीजेपी नहीं लेना चाहती है. ये अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की सत्ता की लालसा है. 4 चुनाव हारने के बाद भी हाय सत्ता करते हुए सपने देख रहे हैं. वे 25 साल सत्ता से बाहर रहेंगे. क्या कभी राम भक्त और जिन्ना भक्त के बीच में समझौता हो सकता है? जो पिता, चाचा और बुआ के नहीं हुए वह हमारे क्या होंगे? गौरतलब है कि एक टीवी शो में अखिलेश यादव ने केशव प्रसाद मौर्य को सीधा ऑफर दे दिया कि वे 100 विधायक के साथ आएं. सपा उनका समर्थन करेगी. यानी अखिलेश यादव ने केपी मौर्य को सीधे मुख्यमंत्री बनाने का ऑफर दे दिया.

अहम बिंदु

इस ऑफर पर पलटवार करते हुए यूपी तक से खास बातचीत में केशव प्रसाद ने कहा- हमें सपा के 100 विधायकों की जरूरत नहीं है. अखिलेश यादव ऐसे बयान देकर सस्ती लोकप्रियता हासिल करना चाहते हैं. अखिलेश यादव ने विधानसभा में पिछड़ा विरोधी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने अपनी सरकार में कभी पिछड़ा उप मुख्यमंत्री नहीं बनाया है.

केशव प्रसाद मौर्य ने आगे कहा- भाजपा को अपराधियों गुंडों दंगाइयों माफियाओं वाले विधायकों की जरूरत नहीं है. ऐसे में वह अपना सोचें. राहुल गांधी और अखिलेश पर का कि वह मनोरंजन के साधन हैं जो देश का मनोरंजन करते हैं. राहुल गांधी की आरएसएस और बीजेपी के बयान पर कहा कि सत्ता की भूख उन्हे ऐसे बयान देने को मजबूर कर रही है. जनता ने उन्हें बाहर किया और अब बाहर ही रहेंगे.

अहम बिंदु

जानें क्या है पूरा मामला

एबीपी न्यूज के कार्यक्रम में अखिलेश यादव से जब ये सवाल किया गया कि आप क्यों नहीं केशव प्रसाद मौर्य से कह देते हैं कि न आप उनके खिलाफ बोलेंगे न वे बोलें. इसपर अखिलेश ने कहा- 'वे बहुत कमजोर आदमी हैं. उन्होंने सपना देखा था मुख्यमंत्री बनने का. जो बिहार में हुआ वो यूपी में क्यों नहीं करते हैं. उनमें हिम्मत हैं? उनके साथ तो विधायक भी हैं, एक बार बता रहे थे कि 100 से ज्यादा विधायक हैं. आज भी विधायक ले आएं. सपा समर्थन कर देगी उनका.'

इसपर केशव प्रसाद ने कहा- 'उनसे बड़ा पिछड़ों का दूसरा कोई विरोधी यूपी नहीं है. वे एक समंतवादी मानसिकता के बन चुके हैं. सपा नाम की कोई पार्टी नहीं बल्कि परिवार की पार्टी है. बीजेपी को किसी को सहारे की जरूत नहीं है. अपने 100 विधायक बचाएं. वे सब भाजपा में आने को तैयार हैं.'

इधर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी (Bhupendra Chaudhary) ने भी ट्वीट कर कहा है- 'केशव जी संगठन के, पार्टी के प्रमाणित एवं भाजपा की विचारधारा के लिए समर्पित कार्यकर्ता हैं. वह सदैव हमारे साथ रहेंगे, किसी स्वार्थ में पड़ने वाले नेता नहीं हैं. वह अखिलेश यादव को चलाएंगे, अखिलेश यादव उन्हें क्या चला पाएंगे.' एक दूसरे ट्वीट में भूपेंद्र चौधरी ने कहा- ' अखिलेश यादव तो अपने गठबंधन की, अपने परिवार की, अपनी पार्टी की, अपने विधायकों की भी चिंता कर लें क्योंकि उनके विधायक हमारे संपर्क में हैं.'

'राम भक्त और जिन्ना भक्त में कैसा समझौता?' अखिलेश के CM वाले ऑफर पर केशव ने खूब सुनाया
डिप्टी सीएम केशव मौर्य बोले- 'अखिलेश यादव सत्ता के लिए तड़पती हुई मछली की तरह हो गए हैं'

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in