विधानसभा में प्रदर्शन करने जा रहे सपा विधायकों को पुलिस ने रोका? पार्टी ने लगाया ये आरोप

विधानसभा में प्रदर्शन करने जा रहे सपा विधायकों को पुलिस ने रोका? पार्टी ने लगाया ये आरोप
फोटो: समाजवादी पार्टी/ ट्विटर

UP Political News: उत्तर प्रदेश की मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी ने ऐलान किया था कि उनके विधायक और कार्यकर्त्ता आज यानी 14 सितंबर को विधानसभा परिसर में 'महंगाई, बेरोजगारी, ध्वस्त कानून व्यवस्था, भर्तियों में धांधली, स्वास्थ्य सेवाओं में भ्रष्टचार, गरीब के घरों पर चल रहे बुल्डोजर और किसानों की दुर्दशा' जैसे मुद्दों पर प्रदर्शन करेंगे. मगर बुधवार सुबह समाजवादी पार्टी ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि आज सपा के विधायकों को विधानसभा में प्रदर्शन करना था, मगर पुलिस उन्हें घरों से निकलने नहीं दे रही है.

सपा ने ट्वीट कर कहा,

"लोकतंत्र की हत्यारी योगी सरकार! आज विधानसभा में समाजवादी पार्टी के विधायक शांतिपूर्ण ढंग से जनहित के मुद्दों के पक्ष में प्रदर्शन करने जा रहे हैं. तानाशाह सरकार द्वारा सपा विधायकों को पुलिस का पहरा लगाकर घरों में बंद करना बेहद निंदनीय एवं शर्मनाक!"

समाजवादी पार्टी

फोटो: समाजवादी पार्टी/ ट्विटर
इसके बाद सपा ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा, "महंगाई, बेरोजगारी,ध्वस्त कानून व्यवस्था,भर्तियों में धांधली,स्वास्थ्य सेवाओं में भ्रष्टचार,गरीब के घरों पर चल रहे बुलडोजर,किसानों की दुर्दशा के मुद्दों पर सरकार से जवाब मांगने आज विधानसभा जा रहे हैं सपा विधायक. लेकिन पुलिस सपा विधायकों को घरों से निकलने नहीं दे रही. घोर निंदनीय!"
फोटो: समाजवादी पार्टी/ ट्विटर

आपको बता दें कि आगामी 19 सितंबर से यूपी विधानसभा सत्र शुरू हो रहा है. इस बार विधानसभा सत्र में एक खास पहल होगी. सत्र में एक दिन सिर्फ महिलाओं के नाम होगा. महिलाओं के स्वास्थ्य, शिक्षा, सशक्तिकरण, जेंडर विषय पर महिला सदस्यों को बोलने का मौका मिलेगा

महिला विधायकों द्वारा उठाए गए महिलाओं से संबंधित मुद्दों पर चर्चा होगी. इसका उद्देश्य ये है कि महिलाओं से संबंधित मुद्दों को सदन की चर्चा में जगह मिले, साथ ही महिला विधायकों को बोलने का मौका भी मिले.

(शिल्पी सेन के इनपुट्स के साथ)

विधानसभा में प्रदर्शन करने जा रहे सपा विधायकों को पुलिस ने रोका? पार्टी ने लगाया ये आरोप
बृजेश पाठक ने समाजवादी पार्टी को गुंडे-माफिया का जमावड़ा बताया, अखिलेश को लेकर कही बात

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in