BJP सांसद से मारपीट: कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने किया अलग दावा, बताया उस दिन का किस्सा

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

पिछले दिनों एक कार्यक्रम में प्रतापगढ़ के बीजेपी सांसद संगमलाल गुप्ता के साथ कथित तौर पर मारपीट का मामला सामने आया था, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इस मामले में कांग्रेस के पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी, उनकी बेटी आराधना मिश्रा समेत कई अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

यूपी तक ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी के साथ बातचीत कर उनका पक्ष जानने की कोशिश की है. बातचीत में उन्होंने कहा, “एक क्षण का वीडियो दिखा दें कि मैंने उनसे मारपीट की हो. अगर उनके अंदर नैतिक साहस है तो वह वीडियो में दिखाएं, जहां मैंने उनके साथ मारपीट की हो. अगर वह दिखा दिएं तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा. अगर नहीं दिखा पाएं तो वह सांसद के पद से इस्तीफा दे दें और दोबारा चुनाव लड़ें.”

उन्होंने ये भी कहा कि मामले में जांच हो रही है और सभी तथ्यों को पुलिस अधिकारियों के सामने रखा गया है.

प्रमोद तिवारी ने आगे कहा, “कार्यक्रम में जब संगमलाल गुप्ता जी आए तब हम लोगों ने हाथ जोड़कर उन्हें कुर्सी देकर बैठाया. उनके साथ 14 लोग आए थे, जिनमें से कोई भी मंच पर चढ़ने के पात्र नहीं थे. वे लोग मंच पर आकर जिंदाबाद के नारे लगाने लगे, माइक तोड़ दी और मंच पर बैठे जिला पंचायत सदस्य और ब्लॉक प्रमुख को उठाने लगे. इसी पर वहां विवाद हो गया. जब विवाद ज्यादा बढ़ा तो मंच के नीचे से स्लोगन और काउंटर स्लोगन हुए. इसके अलावा वहां कुछ नहीं हुआ.”

बीजेपी सांसद संगमलाल गुप्ता जी का कार्यक्रम 12 बजे का था. हमारे कार्यक्रम का समय 2:30 बजे का था. हम लोग 2:30 बजे पहुंचे, मगर वो ढाई घंटे लेट पहुंचे. मंच पर वो नहीं जाना चाह रहे थे, पर उनके 5-6 कार्यकर्ता उन्हें धक्का देकर ले गए. और वहां जाने के बाद जो कुछ भी हुआ, उसकी जिम्मेदारी संगमलाल गुप्ता के नासमझी की है. उन्होंने मीडिया से झूठ बोला है कि वो मार खाए हैं, जबकि वीडियो में वो नहीं है.

प्रमोद तिवारी, कांग्रेस नेता

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

बता दें कि 25 सितंबर को प्रतापगढ़ के विकास खंड सांगीपुर में आयोजित गरीब कल्याण मेले कार्यक्रम में कांग्रेस और बीजेपी समर्थकों के बीच मारपीट हो गई थी. इस कार्यक्रम में बीजेपी सांसद से मारपीट का आरोप लगा था. मामले में कांग्रेस के पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी, उनकी बेटी आराधना मिश्रा समेत कई अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. वहीं, इस मामले में क्षेत्राधिकारी लालगंज जगमोहन सिंह यादव को निलंबित कर दिया गया है.

प्रतापगढ़ में बीजेपी सांसद के साथ हुई मारपीट, BJP-कांग्रेस के कार्यकर्ता आपस में भिड़े

ADVERTISEMENT

follow whatsapp

ADVERTISEMENT