मुसलमानों का हाल बैंड-बाजा पार्टी की तरह होकर रह गया है: असदुद्दीन ओवैसी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लगातार जनसभाएं कर रहे हैं. इसी क्रम में उन्होंने 26 सितंबर को कानपुर में एक जनसभा को संबोधित किया.

इस दौरान ओवैसी ने कहा, ”भारत की सियासत की तल्ख हकीकत ये है कि जिसके पास ताकत है, उसी की आवाज को सुना जाता है.”

इसके आगे ओवैसी ने कहा,

”आज भारत में मुसलमानों का हाल एक बैंड-बाजा पार्टी की तरह होकर रह गया है कि जब चुनाव आता है तो हमसे कहा जाता है कि बैंड बजाओ, सेक्युलरिज्म को बचाओ…आपने देखा होगा कि जब शादी की बारात निकलती है दूल्हे के घर से तो दूल्हा घोड़े पर होता है और सामने होते हैं बैंड बाजे वाले और दूल्हा जब उस मुकाम पर पहुंच जाता है, जहां उसकी शादी होनी है तो बैंड बाजे वालों से कहा जाता है कि तुम इस मुकाम में अंदर दाखिल नहीं हो सकते. तुम्हारा काम था दूल्हे की बारात को बैंड बाजा बजाकर लाना, अब तुम्हारा काम खत्म हुआ, तुम बाहर रहोगे, किसी कोने में जाकर बैठ जाओ. यही हाल मुसलमानों का करके रख दिया गया है.”

असदुद्दीन ओवैसी, अध्यक्ष, AIMIM

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

AIMIM चीफ ने कहा, ”क्या आप सिर्फ वोट डालने वाले रहेंगे या फिर नेता भी बनेंगे. आप सिर्फ वोट डालते रहेंगे तो वही बैंड बाजा पार्टी की तरह, कोई दूल्हा बनेगा और आप बैंड बजाएंगे, बड़े गाने गाएंगे, नाचेंगे, जब वो मुकाम पर पहुंच जाएगा तो वहां पर कहा जाएगा, तेरा काम नहीं है.”

उन्होंने यह भी कहा, ”मेरी ख्वाहिश है उत्तर प्रदेश में असदुद्दीन ओवैसी से बेहतर एक नहीं सौ नेता बनें, जो आपकी आवाज बन सकें.”

ADVERTISEMENT

कानपुर में ओवैसी ने हजारों लोगों की भीड़ को संबोधित करते हुए सत्तारूढ़ बीजेपी से ज्यादा विपक्षी एसपी, बीएसपी और कांग्रेस को घेरा.

उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को लेकर कहा, ”राहुल गांधी अमेठी में हारे हैं और मुझे विजिटर कहते हैं. अमेठी में राहुल इसलिए हारे क्योंकि उनको मुस्लिम ने तो वोट दिया लेकिन हिंदू भाइयों ने उनको वोट नहीं दिया. वो वायनाड से जीते क्योंकि वहां पैतीस फीसदी मुस्लिम वोट हैं.”

उन्होंने यूपी एटीएस द्वारा ‘अवैध धर्मांतरण’ केस में गिरफ्तार किए गए मौलाना कलीम सिद्दीकी के मामले पर एसपी, बीएसपी और कांग्रेस को घेरते हुए आरोप लगाया कि ये लोग मौलाना सिद्दीकी की गिरफ्तारी पर इसलिए नहीं बोले क्योंकि इससे दूसरों का वोट नहीं मिलेगा.

ADVERTISEMENT

ओवैसी ने कहा कि उन्होंने मौलाना सिद्दीकी के वकील से बात की है, जिन्होंने उन्हें बताया है कि केस में कोई दम नहीं है, योगी सरकार केवल मौलाना को फंसाना चाहती है.

ओवैसी पर विपक्ष ने किया पलटवार

कांग्रेस नेता सुरेंद्र राजपूत ने कहा है कि ओवैसी जब से यूपी आए हैं कभी लैला-मजनू, तो कभी बैंड-बाजा-बारात यही बातें करते हैं, कभी बेरोजगारी, महिला उत्पीड़न और असल मुद्दों पर बात नहीं करते. उन्होंने कहा कि ये बीजेपी और ओवैसी का अपरोक्ष गठबंधन है, जिसके चलते वह ऐसे बयान देते हैं.

वहीं, ओवैसी के बैंड-बाजा बयान पर यूपी बीजेपी के प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा, ”उत्तर प्रदेश में मुसलमानों की दयनीय स्थिति के जिम्मेदार आप जैसे नेता हैं. पहले कांग्रेस ने, फिर एसपी और बीएसपी ने वोट बैंक बनाने के लिए इनकी ये दशा कर दी. असदुद्दीन ओवैसी मुसलमानों के आइकन किसको बनाना चाहते हैं? अतीक अहमद को, मुख्तार अंसारी को? और जिस समाज के आइकन ऐसे अपराधी होंगे उनकी क्या दशा होगी. कभी भी ओवैसी के मुंह से एपीजे कलाम का नाम नहीं सुना, बिस्मिल्लाह खान या किसी देशभक्त मुसलमान का नाम नहीं सुना.”

(कानपुर से रंजय सिंह के इनपुट्स के साथ)

कांग्रेस और SP के लोगों ने मुझसे कलीम सिद्दीकी पर बोलने को कहा: असदुद्दीन ओवैसी

follow whatsapp

ADVERTISEMENT