ओम प्रकाश राजभर से हमें नहीं लगता डर, उसको...बीजेपी के पूर्व सांसद ने दिया विवादित बयान

ओम प्रकाश राजभर से हमें नहीं लगता डर, उसको...बीजेपी के पूर्व सांसद ने दिया विवादित बयान
फोटो - दुर्गकिंकर सिंह

मऊ के घोसी विधानसभा सीट से भाजपा के पूर्व सांसद हरिनारायन राजभर ने ओमप्रकाश राजभर को लेकर विवादित बयान दिया है. शुक्रवार को पूर्व सांसद हरिराम राजभर ने कहा कि ओम प्रकाश राजभर से हमें डर नही लगता है हम उसको जूता से मारेंगे वह जूता खोर आदमी है. बीजेपी के पूर्व सांसद ने यह विवादित बयान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी (Bhupendra Chaudhary) द्वारा आज शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ओमप्रकाश राजभर के पार्टी से गठबंधन की संभावनाओं को स्वीकार करने के बाद दिया है.

अहम बिंदु

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर की भाजपा से करीबी और चुनाव में संभावित गठबंधन के पत्रकारों के सवाल पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि अगर कोई हमारे विचारों से सहमत होकर हमारी पार्टी में आता है तो हम उसका स्वागत करेंगे.

वहीं जब भूपेंद्र सिंह चौधरी के हॉल से चले जाने बाद वहां मौजूद बीजेपी के पूर्व सांसद हरिनरायन राजभर ने पत्रकारों से कहा कि ओमप्रकाश राजभर से हमे डर नही लगता. हम उसको जूता से मारेंगे, वह जूता खोर आदमी है. आगे कहा कि जो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को मां - बहन की गाली देगा उसको कार्यकर्ता वोट नहीं देंगे. भारतीय जनता पार्टी का कार्यकर्ता कमल के प्रति प्रतिबद्ध है. वह छड़ी - छाता को वोट नहीं करेगा. किसी भी दल का नेता बीजेपी के कार्यकर्ताओं को मां-बहन की गाली देगा तो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता उसको वोट नहीं कर सकता है.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के द्वारा ओम प्रकाश राजभर के साथ बीजेपी के गठबंधन की बात नकारे नहीं जाने के सवाल पर कहा कि अगर ओमप्रकाश राजभर के साथ गठबंधन होता है तो वह पार्टी का फैसला है.

गौरतलब है कि राजभर ने उत्तर प्रदेश का पिछला विधानसभा चुनाव समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में लड़ा था लेकिन अपेक्षित सफलता नहीं मिलने के बाद वह गठबंधन से अलग हो गए थे और उसके बाद उनका भाजपा के प्रति रुख नरम होता गया. राजभर की पार्टी ने वर्ष 2017 का विधानसभा चुनाव भाजपा के ही साथ मिलकर लड़ा था. सरकार बनने पर राजभर को कैबिनेट मंत्री बनाया गया था लेकिन बाद में राजभर ने गठबंधन से नाता तोड़ लिया था.

संबंधित खबरें

No stories found.
UPTak - UP News in Hindi (यूपी हिन्दी न्यूज़)
www.uptak.in