चित्रकूट में इटावा DM की कार में डाल दिया मिलावटी पेट्रोल? 100 मीटर चलने के बाद गाड़ी रुकी

ADVERTISEMENT

UPTAK
social share
google news

चित्रकूट में मंदिर दर्शन करने आए इटावा के डीएम अविनाश कुमार राय की गाड़ी पेट्रोल पंप से पेट्रोल भरवाने के बाद सिर्फ सौ मीटर बंद हो गई. पेट्रोल पंप में मिलावटी पेट्रोल बेचे जाने की आशंका पर इटावा के डीएम ने चित्रकूट के जिलाधिकारी अभिषेक आनंद को इसके जानकारी दी. आनन-फानन में चित्रकूट के जिला पूर्ति अधिकारी अपनी टीम के साथ भरतकूप स्थित कान्हा इंडियन ऑयल लिमिटेड पेट्रोल पंप पहुंची और पंप के नोजल को बंद कर जांच की गई. अधिकारियों ने चार नमूने लेकर पेट्रोल की गुणवत्ता की जांच के लिए लैब भेजे हैं.

अब जानिए पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक, इटावा के जिलाधिकारी अवनीश कुमार राय अपने निजी वाहन से कुछ परिचितों के साथ चित्रकूट के मंदिरों में दर्शन पूजन करने आए थे. देर रात जब वह वापस जा रहे थे तब बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के पास भरतकूप स्थित कान्हा इंडियन ऑयल लिमिटेड के पंप से कार का पेट्रोल टैंक फुल कराया. लगभग 100 मीटर चलने के बाद अचानक डीएम की कार रास्ते में बंद हो गई.

चालक ने इंजन आदि की जांच कर संदेह जताया कि मिलावटी पेट्रोल होने से इंजन बंद हुआ है. इतना सुनते ही अवनीश कुमार राय ने चित्रकूट के डीएम को फोन से मामले की जानकारी दी. मामला इटावा के जिलाधिकारी से जुड़ा होने के कारण अधिकारियों में हड़कंप मच गया. डीएम अभिषेक आनंद के निर्देश पर जिला पूर्ति अधिकारी आनंद कुमार, इंस्पेक्टर दिलीप सिंह और भरतकूप पुलिस टीम मौके पर पहुंचे. रात में ही दो मिस्त्रियों को बुलाकर कार के इंजन की जांच कराई गई, तो पता चला कि पेट्रोल टंकी से पेट्रोल की सप्लाई नहीं हो रही है. पेट्रोल पंप पहुंचे अधिकारियों ने पंप संचालक भोला प्रसाद मिश्र समेत सभी कर्मचारियों से पूछताछ की.

जिला पूर्ति अधिकारी ने क्या बताया?

जिला पूर्ति अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि ‘चार नमूने लिए गए हैं. सभी नमूनों की जांच के लिए लैब व कंपनी के सेल्स मैनेजर के पास भेजा गया है. जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई होगी. ऑटोमेशन मशीन के चलते आजकल पेट्रोल डीजल में मिलावट संभव नहीं है. अभी निश्चित तौर पर कुछ कहा नहीं जा सकता लेकिन संभावना है कि डीएम के वाहन के टैंक में कोई कचरा फंसा होगा जिसके चलते यह समस्या हुई लेकिन सतर्कता से पूरी जांच जारी है. अगर सैंपल फेल हुआ तो पेट्रोल पंप संचालक के विरुद्ध कार्रवाई होगी.’

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT

    follow whatsapp

    ADVERTISEMENT